उत्तराखंड ने उत्तर भारत भौगोलिक संकेतांक में हासिल किया पहला पुरस्कार

जनादेश/देहरादून : उत्तराखंड ने उत्तर भारत भौगोलिक संकेतांक यानी जीआई महोत्सव में पहला स्थान प्राप्त किया। दरअसल राज्य की ओर से महोत्सव मे जीआई पंजीकृत सात उत्पादों की प्रदर्शित लगाई गई थी। इसमें बेरीनाग चाय, ऐपण और च्यूरा उत्पाद आकर्षण का केंद्र रहे।

जानकारी के लिए बता दें कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय और उत्तर प्रदेश सरकार की सहायता से वाराणसी में 16 से 21 अक्तूबर तक जीआई महोत्सव आयोजित किया गया। इस दौरान उत्तर भारत के 11 राज्यों की ओर से 100 जीआई उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गई। उत्तराखंड द्वारा जीआई पंजीकृत में कुमाऊं च्यूरा ऑयल, मुनस्यारी राजमा, भोटिया दन, ऐपण, रिंगाल क्राफ्ट, ताम्र उत्पाद व थुलमा समेत अन्य उत्पाद प्रदर्शित किए गए।

वहीं उद्योग निदेशक सुधीर चंद्र नौटियाल ने बताया कि महोत्सव में जीआई उत्पादों में बेरीनाग चाय, ऐपण और च्यूरा ऑयल को लोगों ने खूब सराहा। जिस वजह से
प्रदर्शन में उत्तराखंड ने पूरे उत्तर भारत में पहला स्थान हासिल किया है। भौगोलिक संकेतांक किसी क्षेत्र विशेषता वाले उत्पादों को कानूनी संरक्षण प्राप्त करता है।