यूपी: कोरोना के मामलों में इजाफा, चौथी लहर की आहट

जनादेश/लखनऊ: यूपी में एक बार फिर से कोरोना के केस बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। और यही कारण हैं कि कोरोना की बढ़ती संक्रमण की दर चौथे लहर की आहट दे रही है। गुरुवार को आई रिपोर्ट में 636 नए मरीज मिले। इसके बाद यूपी में एक्टिव केस 3 हजार 423 पहुंच गया। इतने एक्टिव केस इससे पहले 2 मार्च यानी 113 दिन पहले मिले थे। महज 7 दिन के अंदर संक्रमण के मामलों में 185% का इजाफा हुआ है। 16 जून को यूपी में एक्टिव केस की संख्या 1 हजार 849 रही।

गुरुवार को आई रिपोर्ट के बाद अब यहां 3 हजार 423 एक्टिव मरीज हो गए हैं। इस बीच 16 दिनों में 12 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। एक्टिव केस सबसे ज्यादा 816 लखनऊ में हैं। उसके बाद नोएडा में 731 और गाजियाबाद में 351 हैं। गुरुवार की रिपोर्ट के मुताबिक, यूपी में 24 घंटे में 88 हजार 375 सैंपल की जांच की गई। इस बीच 468 लोग ठीक हुए हैं। हालांकि राहत की बात यह रही कि इस दौरान किसी संक्रमित की मौत नहीं हुई। लखनऊ में गुरुवार को 166 संक्रमित सामने आएं हैं। इससे पहले बुधवार को लखनऊ में 191 नए कोरोना संक्रमित मिले थे। शहर में सबसे ज्यादा बिगड़े हालात अलीगंज इलाके के हैं। गुरुवार को यहां सबसे ज्यादा 29 कोरोना संक्रमित मिले हैं।

फिलहाल लखनऊ में कोरोना के 816 एक्टिव केस हैं।आलमबाग में 27, अलीगंज में 29, चिनहट में 25, रेडक्रास में 19, इंदिरानगर में 19, सरोजनीनगर में 11, सिल्वर जुबली में सात, एनके रोड में पांच, मलिहाबाद में दो, माल में दो, टूडियागंज में दो, ऐशबाग में दो, गोसाईगंज में एक, मोहनलालगंज में एक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। लखनऊ सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने बताया कि कान्टैक्ट ट्रेसिंग में 23, ट्रैवल में 21, कोरोना के सामान्य लक्षण वालों में 32, प्री-सर्जिकल में 5 कोरोना संक्रमित मिले हैं। लखनऊ के KGMU के कुलपति मेजर जनरल डॉ. विपिन पूरी ने बताया कि कोरोना संक्रमण बढ़ जरूर रहा है, लेकिन अभी इसे चौथी लहर की आमद कहना जल्दबाजी होगी। हमें देखना होगा कि नए केसे में कौन-सा वैरिएंट है? यदि कोई नया वैरिएंट यानी ओमिक्रॉन के अलावा कोई वैरिएंट है तो इसे नकारा भी नहीं जा सकता है। फिलहाल सबको अलर्ट रहने की जरूरत है। मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग जरूर करें।