इस बार नए सत्र में नहीं बढ़ेगी स्‍कूल की फीस

जनादेश/मेरठ: होली के बाद स्कूलों में वार्षिक परीक्षाओं के परिणाम जारी होंगे जो 30 मार्च तक चलेंगे। उसके बाद नए सत्र की पढ़ाई शुरू की जायेगी। अभिभावकों के लिए राहत की बात यह है कि स्कूलों में इस साल यानी सत्र 2022-23 में फीस बढ़ोत्तरी नहीं की जोयेगी । प्रदेश सरकार ने इसके आदेश जनवरी के अंतिम सप्ताह में जारी कर दिया था। इसके साथ ही शहर के कुछ स्कूलों ने भी अभिभावकों को राहत देने के लिए नए सत्र में किताबें न बदलने का निर्णय लिया है।

महामारी के असर को देखते हुए प्रदेश सरकार ने लगातार तीसरे साल स्कूलों में फीस न बढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं। इस बाबत जिला विद्यालय निरीक्षक ने भी 25 जनवरी को स्कूलों को पत्र जारी कर सत्र 2022-23 में भी फीस न बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। स्कूलों में इस सत्र में भी सत्र 2019-20 वाली फीस ही ली जाएगी। उदाहरण के तौर पर यदि सत्र 2019-20 में कक्षा एक के बच्चे की फीस तीन हजार रुपये प्रति माह थी तो इस सत्र 2022-23 में भी संबंधित स्कूल में कक्षा एक की फीस तीन हजार रुपये प्रति महीने ही रहेगी। इसी तरह यह व्यवस्था अन्य कक्षाओं के लिए भी लागू रहेगी।

सोफिया गर्ल्‍स स्कूल, दीवान पब्लिक स्कूल सहित शहर के कुछ स्कूलों ने नए सत्र में किताबों में कोई परिवर्तन न करते हुए समान सिलेबस रखा गया है। सोफिया गर्ल्‍स स्कूल की प्रिंसिपल सिस्टर गेल के अनुसार सिलेबस में कोई बदलाव न होने से स्कूली बच्चे एक-दूसरे से किताबें साझा कर सकेंगे। जरूरतमंद परिवारों को बच्चों की किताब नहीं खरीदना पड़ेगा। स्कूल की पहल को देखते हुए स्कूल के पुतान छात्राओं का संगठन सोगम ने 19 मार्च को स्कूल में ही काउंटर लगाकर किताब जमा करने और जरूरत के अनुरूप अगली कक्षा की किताब लेने के लिए ‘लेट्स शेयर’ मुहिम चलाने की तैयारी की है।