अंकिता भंडारी के हत्यारोपियों की एसआईटी ने कॉल डिटेल खंगाली, और यह बात आई सामने !

जनादेश/ऋषिकेश: अंकिता मर्डर केस में आरोपी पुलकित आर्य, सौरभ और अंकित के करीबियों की मुश्किलें जल्द बढ़ने वाली हैं।  एसआईटी ने तीनों आरोपियों के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई है। जिन नंबरों पर तीनों आरोपियों की ज्यादा बातें होती थीं एसआईटी उनकी डिटेल खंगाल रही है।

खास बात यह है कि ऋषिकेश के भी कुछ नंबर आरोपियों की कॉल डिटेल में शामिल हैं। इनके पास पूछताछ को एसआईटी की कॉल आनी शुरू हो गई है। अंकिता हत्याकांड में एसआईटी की टीम साक्ष्य जुटाकर आरोपियों को कड़ी सजा दिलाने की कोशिश में लगी है। चार्जशीट दाखिल करने में भले ही देर हो रही है। लेकिन, सबूतों को जुटाने में हर मुमकिन प्रयास हो रहे है।

कोई सबूत हो या गवाह इस हत्याकांड में अहम साबित हो सकता है। एसआईटी किसी भी पहलू को नजरअंदाज करने के मूड में दिखाई नहीं दे रही है। सूत्रों के मुताबिक, एसआईटी की टीम ने अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी रिजॉर्ट मालिक और पूर्व भाजपा नेता के बेटे पुलकित आर्य उसके सहयोगी सौरभ और अंकित की कॉल डिटेल निकाली है। 

अंकिता की हत्या से पहले दुष्कर्म नहीं हुआ था। डीएनए की रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। एसआईटी ने दुष्कर्म की आशंका पर उसके और आरोपियों के डीएनए सैंपल जांच को भेजे थे। सूत्रों के अनुसार, इसकी रिपोर्ट में दुष्कर्म नहीं होने की बात सामने आई है।

उत्तराखंड महिला मंच ने राष्ट्रीय स्तर के महिला संगठनों के साथ ऑनलाइन बैठक की। अंकिता भंडारी के हत्यारों को कड़ी सजा दिलाने की मांग उठाई गई। सभी महिलाओं से एकजुट होने आगे आने की अपील की गई। अंकिता के परिजनों को उचित मुआवजा और न्याय देने की मांग भी की। छात्र संगठन आइसा की शिवानी पांडेय ने पूरे घटनाक्रम को सबके सामने रखा। जनवादी महिला समिति से सुभाषिनी, उत्तराखंड हाईकोर्ट की एडवोकेट स्निग्धा तिवारी, दून से दमयंती नेगी, उमा भट्ट, एनएपीएम की मीरा संघमित्रा, गंगा असनोडा, बसंती पाठक और कविता श्रीवास्तव ने शिरकत की।