संजय राउत की बड़ी मुश्किलें,19 सितंबर तक बढ़ी न्यायिक हिरासत

जनादेश/डेस्क: संजय राउत की मुश्किलें खत्म होनें का नाम नहीं ले रही हैं। बता दें कि पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को राहत नहीं मिली है। दरअसल पीएमएलए की एक विशेष अदालत ने संजय राउत की न्यायिक हिरासत 19 सितंबर तक बढ़ा दी है। हालांकि ईडी ने शिवसेना सांसद को 1 अगस्त को मनी लॉन्ड्रिंग के सिलसिले में गिरफ्तार किया था।

जानकारी के मुताबिक, शिवसेना नेता संजय पात्रा चाल जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केकेस में फंसे हैं। स्कैम की शुरूआत 2007 से हुई। आरोप लगाया जा रहा हैं कि महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी यानी MHADA के साथ प्रवीण राउत, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन और हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड की मिलीभगत से घोटाले को अंजाम दिया गया। इसका रिडेवलपमेंट का कार्य गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया था। जिसमें 1034 करोड़ के घोटाले का आरोप है। दरअसल संजय राउत के दोस्त प्रवीण राउत इस मामले में आरोपी हैं। ये कंपनी प्रवीण राउत की है। इस दौरान पात्रा चॉल में 3 हजार फ्लैट बनाए जाने थे। 672 फ्लैट चॉल के निवासियों को मिलने थे। लेकिन प्राइवेट बिल्डरों को जमीन बेचने का आरोप लग गया हैं।