कीव के कस्बों में घुसने की तैयारी में रूसी सेना

जनादेश/कीव/मास्को/ वाशिंगटन: यूक्रेन पर रूसी हमले का आज 16वां दिन है। इतना लंबा समय हो जाने के बाद भी दोनों देशों के बीच जंग समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। रूस की ओर से यूक्रेन के कई शहरों पर हमले जारी हैं। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा कि पिछले दो दिनों में यूक्रेन से करीब एक लाख लोगों को बाहर निकाला गया है। वहीं फेसबुक ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर रूसी आक्रमण व पुतिन के खिलाफ खुलकर बोलने की अनुमति दे दी है।

यूक्रेन में फंसे 242 छात्र आए वापस 

ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन में फंसे 242 और छात्र आज भारत वापस लौट आए। इन छात्रों को पोलैंड के रास्ते दिल्ली लाया गया। इनमें से एक छात्र हरदीप ने बताया कि वह सूमी में फंसा था। वहां हर तरफ बमबारी हो रही थी, लेकिन भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने हमारी बहुत मदद की। मैं इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद कहना चाहता हूं।
रूस से मोस्ट फेवरेट नेशन का स्टेटस वापस लेगा अमेरिका
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा की कि, अमेरिका-यूरोपीय संघ व जी-7 देश रूस से व्यापार में मोस्ट फेवरेड नेशन का स्टेटस भी वापस लेंगे। दरअसल, यूक्रेन पर आक्रमण के बाद अमेरिका व यूरोपीय संघ लगातार रूस पर प्रतिबंध लगा रहे हैं। रूस दुनिया का सबसे ज्यादा प्रतिबंधों वाला देश बन गया है।
रूस-यूक्रेन के बीच मध्यस्थता कराने को तैयार चीन 
रूस-यूक्रेन के बीच शांति समझौता कराने के लिए चीन एक बार फिर से मध्यस्थ बनने को तैयार है। पहले विदेश मंत्री और अब चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच शांति समझौता कराने के लिए चीन मध्यस्थता के लिए तैयार है। यह बयान ऐसे समय पर सामने आ रहे हैं, जब चीन यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की आलोचना करने से इंकार कर चुका है।
कीव के बाहर फिर तैनात हुआ रूसी काफिला
यूक्रेन की राजधानी कीव के बाहर फिर से रूसी काफिला देखा गया है। एक अमेरिकी निजी कंपनी ने कहा कि, 10 मार्च को ली गईं सैटेलाइट तस्वीरों में कीव के उत्तर-पश्चिम में फिर से रूसी काफिला देखा गया है। यह काफिला पहले तितर-बितर हो गया था। कहा गया कि तस्वीरों में बख्तरबंद गाड़ियां हवाईअड्डे के नजदीक शहरों में घुसपैठ कर रही हैं। इस काफिले को जंगलों में पेड़ों की कतार में तैनात किया गया है।
रूस ने यूक्रेन में किया था वैक्यूम बम का इस्तेमाल
रूस ने यूक्रेन में वैक्यूम बम के इस्तेमाल की पुष्टि की है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय की ओर से ट्वीट किया गया है। इसमें कहा गया है कि रूसी रक्षा मंत्रालय ने यूक्रेन में TOS-1A हथियार प्रणाली को तैनात किया था। यह हथियार प्रणाली वैक्यूम बमों का इस्तेमाल करती है। एक वैक्यूम बम हवा से ऑक्सीजन को सोख लेता है और मानव शरीर को वाष्पीकृत करने में सक्षम होता है।
कीव के कस्बों में घुसने की तैयारी में रूसी सेना, बड़े आक्रमण की पोजीशन में आए टैंक, सैटेलाइट तस्वीरों से फिर यूक्रेन में दहशत
सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ने रूस को लेकर अपने नियमों में बदलाव किया है। यूक्रेन पर आक्रमण के विरोध में फेसबुक ने रूसी आक्रमण और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के खिलाफ बोलने की अनुमति दी है। हालांकि, फेसबुक ने कहा है कि सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ऐसी टिप्पणी नहीं होनी चाहिए, जिससे नागरिकों को खतरा हो।
https://www.youtube.com/watch?v=G5WgG670PrY