HEALTH-TIPS

काम करते समय ब्रेक न लेने से हार्ट अटैक का खतरा, जानिए वजह

जनादेश/डेस्क: जहां एक तरफ कोरोना की महामारी के बाद लोगो का लाइफस्टाइल पूरे तरीके से बदल चुका है। वहीं बीमारियां भी बहुत बढ़ चुकी है। दरअसल हाइब्रिड वर्किंग मॉडल अधिकांश प्रोफेशनल के लिए जीने का एक तरीका बन गए हैं। वहीं यह केवल ओफिस वालों के लिए नहीं बल्कि बच्चों को भी ऑनलाइन कक्षाओं और ट्यूशन की व्यवस्था से अवगत कराया गया है।

ये होंगे ज्यादा देर तक बैठने के साइड इफेक्ट

इस महामारी के तहत सभी को एक ही स्थान पर लगातार बैठे रहने को बाध्य कर दिया है। लेकिन अब आपको बता दें कि ज्यादा देर तक बैठने के साइड इफेक्ट बहुत ज्यादा हो सकते हैं। लगातार बैठकर काम करने वालों में दिल से लेकर हड्डियों तक की बीमारी का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़े – उत्तराखंड: शांत और कम भीड़-भाड़ वाला है ये खुबसूरत हिल स्टेशन

अमेरिकन हार्ट इंस्टिट्यूट के अनुसार हर व्यक्ति को हर दिन कम से कम 30 मिनट व्यायाम करना चाहिए। बता दें कि नियमित व्यायाम करने वालों में हृदय रोग की आशंका दूसरों की तुलना में लगभग 45% तक कम हो जाती है।

साथ ही कलेस्ट्रॉल और लिपिड के स्तर में भी सुधार होता है। बैड कलेस्ट्रॉल यानी एलडील का स्तर कम होता है। हालांकि गुड कलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार के लिए अधिक मेहनत वाला व्यायाम करना जरूरी है।

लंबे समय तक बैठने के नुकसान

  • हाई ब्लड प्रेशर
  • मोटापा
  • कूल्हों और पीठ पर दबाव पड़ने से रीढ़ की हड्डी में समस्या
  • लंबे समय तक पैर लटके रहने से सूजन और दर्द
  • आस्टियो आर्थराइटिस
  • ब्लड शुगर
  • कोलेस्ट्रॉल
  • हार्ट अटैक का खतरा

Health Tips : अगर लंबे समय तक बैठना हो-

  • हर 45 मिनट के बाद एक छोटी वॉक करें
  • थोड़ा स्ट्रेच करें
  • सीढ़ियां चढ़ें
  • कुर्सी पर बैठे—बैठे भी पैरों के पंजों को हिलाते रहें
  • काम के बीच लें ब्रेक