ऋषिकेश: डेंगू, मलेरिया से निजात के लिए चलाया गया अभियान

जनादेश/डेस्क: आमतौर पर बरसात का मौसम शुरू होते ही डेंगू-मलेरिया का खतरा बढ़ने लगता है। जगह-जगह जलभराव होने के चलते मलेरिया के मच्छर पनप जाते हैं और फिर डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारी फैलाते हैं। ऐसे में देहरादून नगर निगम के साथ-साथ अब ऋषिकेश नगर निगम की तरफ से भी डेंगू और मलेरिया से निपटने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। ऋषिकेश में अभियान चलाया जा रहा है। ऋषिकेश मेयर अनीता ममगाईं ने नगर निगम कार्यालय में सफाई निरीक्षकों व हलवदारों की बैठक ली। उन्होंने डेंगू व मलेरिया से निपटने के लिए निगम के सफाई कर्मचारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। मेयर ने कहा कि सभी 40 वार्डों में नियमित फॉगिंग, लार्वा नाशक दवाओं का छिड़काव, नाली निकालने और सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

आपको बता दें कि डेंगू नियंत्रण अभियान की शुरुआत मायाकुंड वार्ड के केवलानंद चौक से की गई। मुखर्जी नगर, भरत मंदिर वार्ड में नालियों की सफाई, फॉगिंग और नालियों में कीटनाशकों का छिड़काव कराया।

मेयर अनीता ममगाईं ने कहा कि लोगों को भी अपने घरों के आसपास जमा पानी की निकासी करनी होगी। या फिर जमा पानी में पेट्रोल या डीजल डालना होगा। साफ पानी में ही डेंगू का लार्वा पनपता है। यदि किसी इलाके में पानी की निकासी न हो रही हो मच्छरों का ज्यादा प्रकोप हो तो नगर निगम में सूचना दी जाए।

अभियान के दौरान नगर आयुक्त राहुल गोयल, सहायक नगर आयुक्त रमेश रावत, मनीष बनवाल, विजय लक्ष्मी शर्मा, सफाई निरीक्षक अभिषेक मल्होत्रा, निर्मल विश्वास, उत्तम यादव, श्यामल दास आदि थे।