चिंतन शिविर में पहुंचे राहुल गांधी, इन मुद्दों पर रहेगा फोकस

जनादेश/नई दिल्ली: राजस्थान के उदयपुर में आज से कांग्रेस अपना तीन दिवसीय चिंतन शिविर शुरू करने जा रही है । यह चिंतन शिविर 15 मई तक चलेगा जिलमे लगातार चुनाव में कांग्रेस को मिली हार और कांग्रेस नेताओं में असंतुष्टि को लेकर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा देश के कई मुद्दों पर विचार किया जाएगा। चिंतन शिविर कांग्रस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संबोधन से शुरू होगा जिसके बाद सभी छह ग्रुप के सदस्य अपने विषय के एजेंडे पर चर्चा शुरू करेंगे।

14 मई यानी कल पूरे दिन चर्चा होगी। इसके बाद हर समूह अपने निष्कर्षों का मसौदा तैयार करेगा। 15 मई को सुबह साढ़े 11 बजे कार्यसमिति की बैठक होगी। जिसमें इन मसौदा प्रस्तावों पर विचार कर मंजूरी दी जाएगी। शिविर के अंतिम सत्र को राहुल गांधी संबोधित करेंगे।

आपको बता दें की चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए राहुल गांधी उदयपुर पहुंच चुके हैं। राहुल गांधी ट्रेन के जरिए उदयपुर पहुंचे। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘राहुल गांधी का स्वागत है। स्टेशन पर हज़ारों लोग आए। शानदार स्वागत हो रहा है, लोगों में उत्साह है।’

कांग्रेस के चिंतन शिविर में तीन मुख्य बिदुंओं पर चर्चा की जाएगी। कांग्रेस नेता सांप्रदायिक ध्रुवीकरण, किसानों के मुद्दे और आगामी चुनाव के लिए पार्टी को मजबूत करने को लेकर चर्चा करेंगे। इसके अलावा केंद्र-राज्य सरकारों के संबंध, उत्तर-पूर्वी राज्यों की स्थिति, जम्मू-कश्मीर का मुद्दा पर भी चर्चा होगी। इसके साथ ही बीते विधानसभा चुनावों में मिली हार को लेकर भी चर्चा की जाएगी। पिछले आठ सालों में हुए चुनावों में पार्टी को कई चुनावों में हार का सामना करना पड़ा है। ऐसे में इन चुनावों मिली हार के कारणों पर भी समीक्षा की जाएगी।

चिंतन शिविर में राहुल गांधी को एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष बनाने का मुद्दा उठ सकता है। इससे पहले, 14 मार्च को हुई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में भी राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने की मांग की गई थी। कहा जा रहा है कि कई नेताओं की मांग के बाद अब राहुल गांधी भी इस पद पर विचार के लिए तैयार हैं।

धा