महारानी एलिजाबेथ-II का अंतिम संस्कार: रात 8.30 बजे दफनाया जाएगा ताबूत

जनादेश/लंदन: क्वीन एलिजाबेथ-II के अंतिम संस्कार की रस्में शुरू हो चुकी हैं। रॉयल गार्ड्स की परेड के साथ उनका पार्थिव शरीर वेस्टमिंस्टर ऐबे पहुंच गया है। यहां भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन समेत दुनिया के तमाम राष्ट्राध्यक्ष मौजूद हैं।

अंतिम संस्कार की तमाम रस्में डीन ऑफ वेस्टमिंस्टर डेविड होयले पूरी करवा रहे हैं। उनके साथ केंटरबरी के आर्कबिशप जस्टिन वेल्बी मौजूद हैं। शाही रीति-रिवाजों के मुताबिक क्वीन के निधन पर शोक जताया गया। उनके लिए प्रेयर्स पढ़ी गई। प्राइम मिनिस्टर लिज ट्रस ने छोटा भाषण दिया। इसके बाद शाही परिवार की तरफ से एक प्रस्ताव पढ़ा गया। फिर दो मिनट का मौन रखा गया।

शाही परंपराओं के मुताबिक, क्वीन का अंतिम संस्कार उनके निधन के 10 दिन बाद किया जा रहा है। महारानी के ताबूत को गन कैरिज में वेस्टमिंस्टर ऐबे लाया गया। इसे 142 रॉयल नेवी सेलर्स ने खींचा। इसी कैरिज का इस्तेमाल एडवर्ड VII, जॉर्ज V, जॉर्ज VI और सर विंस्टन चर्चिल के अंतिम संस्कार के दौरान भी किया गया था।