रिश्वत लेते चौकी प्रभारी गिरफ्तार

जनादेश/डेस्क: दहेज उत्पीड़न के मामले में आरोपी महिला से 10 हजार की रिश्वत ले रहे कन्नौज जनपद में ठठिया थाने के खैरनगर चौकी प्रभारी राजीव सिंह चौहान को एंटी करप्शन टीम ने बृहस्पतिवार को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। टीम को देखते ही चौकी इंचार्ज भागने लगा तो कर्मियों ने करीब 500 मीटर दौड़ाकर पकड़ा। सदर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद टीम उन्हें लेकर लखनऊ जेल के लिए रवाना हो गई। वहीं, संभल जनपद में बहजोई कोतवाली के एक दरोगा, दो हेड कांस्टेबल और एक सिपाही का रुपये गिनते वीडियो वायरल होने पर एसपी ने चारों को निलंबित कर दिया है।

इटावा के भरथना थानाक्षेत्र के गांव बहरापुर निवासी मनीष कुमार की ठठिया थाना क्षेत्र के हजियापुर गांव में रहने वाली नीलम से 2015 में शादी हुई थी। नीलम ने इसी साल 21 जनवरी को पति मनीष, दिल्ली निवासी ननद सरिता सहित छह लोगों के खिलाफ ठठिया थाने में दहेज उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मामले की जांच खैरनगर चौकी प्रभारी राजीव सिंह चौहान कर रहे थे। चौकी प्रभारी ने सरिता से उसका और उसके पति का नाम निकालने के लिए 30 हजार रुपये की मांग की थी। पेशगी के तौर पर 10 हजार रुपये सरिता पहले दे चुकी थी। इस दौरान सरिता ने एंटी करप्शन की कानपुर टीम से चौकी प्रभारी की शिकायत की थी। बृहस्पतिवार को जब सरिता 10 हजार रुपये देने पहुंची तो वहां कानपुर और लखनऊ की एंटी करप्शन टीम के सदस्य पहले से मौजूद थे।

थाना बहजोई में तैनात एक दरोगा, दो हेड कांस्टेबल और एक सिपाही का रुपये गिनते हुए बृहस्पतिवार को वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। वीडियो में दरोगा एक कक्ष में बैठकर रुपये गिनते हुए दिख रहा है। साथ में दो हेड कांस्टेबल और एक सिपाही भी हैं। एसपी चक्रेश मिश्र ने वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए दरोगा मुरलीधर चौहान और हेड कांस्टेबल तेजसिंह व पिंटू तथा सिपाही प्रियांकुर को निलंबित कर दिया है। साथ ही पूरे मामले की जांच एएसपी आलोक कुमार जायसवाल को सौंपी है।