अब कोरोना जैसी बड़ी महामारी से निपट सकेगा दिल्ली, 7 बड़े अस्पताल हो रहे हैं तैयार

जनादेश/नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना महामारी के बाद सरकार काफी ऐक्शन मोड में दिख रही है। साथ ही वह स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर प्रयत्न करती दिख रही है।

बता दें कि दिल्ली में 6836 आईसीयू बेड्स की क्षमता वाले 7 सेमी-परमानेंट हॉस्पिटल तैयार करवाए जा रहे हैं। दरअसल यह कदम कोरोना जैसी बड़ी महामारियों और क्रिटिकल केसों से लड़ने के लिए उठाया गया है।

दिल्ली: कहां – कहां होंगे ये अस्पताल

इस प्रोजेक्ट के अनुसार, शालीमार बाग में 1430 बेड्स की क्षमता वाला 4 मंजिला अस्पताल, किराड़ी में 458 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, सुल्तानपुरी में 527 बेड्स की क्षमता वाले 4 मंजिला अस्पताल, जीटीबी काम्प्लेक्स में 1912 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, गीता कॉलोनी में चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में 596 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, सरिता विहार में 336 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल व रघुवीर नगर में 1577 बेड्स की क्षमता वाले 4 मंजिला अस्पताल का निर्माण कार्य चल रहा है।

वहीं अधिकारियों ने बताया कि जगहों पर निर्माण कार्य शुरू हो चुका है और जल्द ही आईसीयू अस्पताल बनकर तैयार हो जाएंगे।

ज्वालापुरी में 1164 बेड्स की क्षमता

दरअसल ज्वालापुरी में 1164 बेड्स की क्षमता के साथ 11 मंजिला एक अत्याधुनिक अस्पताल का निर्माण करवाया जा रहा है। इसके साथ बिल्डिंग में 2 मजिला बेसमेंट भी है।

Also Read: जल्द लॉन्च होने वाली है मारुति सुजुकी की नई Swift, जानिए डिटेल

अस्पताल का निर्माण कार्य आधा पूरा हो चुका है। वहीं कयास लगाए जा रह हैं कि 2024 के शुरूआती महीनों में ये अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा।

जानकारी के अनुसार, ज्वालापुरी व मादीपुर में बन रहे अस्पतालों का 50 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है और काम तेजी से चल रहा है। आशंका है कि अस्पतालों का निर्माण कार्य 2023 तक पूरा हो जाएगा।

वहीं द्वारका सेक्टर 9 में इंदिरा गांधी अस्पताल का निर्माण करवाया जा रहा है। जिसमें 9 मंजिला वार्ड ब्लाक, 6 मंजिला ओपीडी व 6 मंजिला इमरजेंसी ब्लाक होगा। गौरतलब है कि इस अस्पताल का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है बाकि इस साल के अंत तक पूरा हो जाएगा।