PFI के खिलाफ NIA-ED का बड़ा एक्शन, 100 से अधिक लोग गिरफ्तार

जनादेश/डेस्क: ईडी ने देश के 10 राज्यों में पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी की है। बता दें कि NIA ने पीएफआई से जुड़े 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने बृहस्पतिवार सुबह आतंकवादियों का कथित तौर पर समर्थन करने वाले व्यक्तियों, पीएफआई  सहित अन्य समूहों के खिलाफ बड़े पैमाने पर देशव्यापी छापेमारी अभियान चलाया हैं।

वहीं एक अधिकारी ने बताया कि ‘अब तक की सबसे बड़ी जांच’ के तहत कथित तौर पर आतंकवदियों को धन मुहैया कराने, उनके लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करने और लोगों को प्रतिबंधित संगठनों से जुड़ने के लिए बरगलाने में शामिल व्यक्तियों के परिसरों पर छापे मारे जा रहे हैं।

पीएफआई ने एक बयान में कहा कि “पीएफआई के राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय और स्थानीय नेताओं के घरों पर छापेमारी की जा रही है। राज्य समिति कार्यालय पर भी छापे मारे जा रहे हैं।” पीएफआई ने कहा, “हम फासीवादी शासन द्वारा विरोध की आवाज को दबाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किए जाने जैसे कदमों का कड़ा विरोध करते हैं।

बता दें कि NIA ने हैदराबाद के चंद्रयानगुट्टा में PFI के मुख्यालय को सील कर दिया है, NIA, ED, पैरामिलिट्री ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर इस कार्यालय को सील किया है। दरअसल मामले पर एफआईआर पहले ही दर्ज थी। तमिलनाडु के डिंडीगुल जिले में PFI के कार्यालय पर छापेमारी जारी हैं। PFI के 50 से ज्यादा सदस्यों ने NIA की छापेमारी के खिलाफ कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

दूसरी ओर मंगलुरु में NIA की छापेमारी के खिलाफ PFI और SDPI के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। NIA और ED ने केरल के मलप्पुरम जिले के मंजेरी में OMA सलाम, PFI अध्यक्ष के घर पर छापेमारी की है। बता दें कि केरल में पीएफआई के चार नेताओं को हिरासत में लिया गया है। हालांकि पीएफआई अध्यक्ष ओएमए सलाम, केरल राज्य प्रमुख सीपी मोहम्मद बशीर, राष्ट्रीय सचिव वीपी नजरुद्दीन और राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रो पी कोया को भी हिरासत में लिया गया है।

गौरतलब हैं कि, ईडी ने संयुक्त रूप से तेलंगाना, केरल, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और कर्नाटक समेत कई राज्यों में पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।