मुकेश बाडोनी बोले “मनुष्य को अपने पद का अहंकार कभी नहीं करना चाहिए”

जनादेश/ऋषिकेश: कथा मर्मज्ञ मुकेश बडोनी ने कहा कि मनुष्य को अहंकार, लालच और द्वेष से दूर रहना चाहिए। श्रीमद् भागवत कथा मनुष्य को सत्य और शुभकर्मों के मार्गों पर ले जाती है।

सोमवार को हनुमंतपुरम गंगानगर स्थित हटवाल पार्क में चल रही श्रीमद् भागवत महापुराण कथा के तीसरे दिन कथा वाचक आचार्य मुकेश बडोनी ने कहा कि कभी भी अपने पद का अभिमान नहीं करना चाहिए। अहंकार मनुष्य को पाप की ओर ले जाता है। श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण और अनुसरण मनुष्य को मोक्ष प्राप्ति का रास्ता प्रशस्त कराती है। इसके जरिए मनुष्य सत्य, धर्म और मानवता की राह पर चलकर भक्ति में लीन हो जाता है। मौके पर श्री भरत देव जन विकास समिति के अध्यक्ष पीडी बिजल्वाण, प्यारेलाल जुगरान, सुरेंद्र, राजेंद्र नेगी, बीएम गुप्ता, मातवर सिंह नेगी, अजय ब्रेजा, ओपी कंडवाल, भोपाल पंवार, रमा रावत, नेत्री देवी, मंजू शर्मा, पुष्पा पंत, रजनी थपलियाल, रश्मि अग्रवाल, रेखा चौबे, मुकेश गाबा, राहुल चौहान, जितेंद्र रावत, राम रतन शर्मा, विजय देवरानी, कुशलानंद चौहान, उमा बृजपाल राणा, बृजपाल राणा, केके सचदेवा, अभिषेक हटवाल, मकान नेगी, संजय खरबंदा, मुंशी राम ब्रेजा आदि उपस्थित रहे।