हत्या और लूट में शामिल बदमाश मुठभेड़ में ढेर

जनादेश/लखनऊ: लखनऊ के तिरुपति ज्वैलर्स के शोरूम में घुस कर कर्मचारी श्रवण कुमार की हत्या करने वाले को शुक्रवार तड़के अलीगंज और क्राइम ब्रांच ने मुठभेड़ में मार गिराया। सर्राफ के कर्मचारी की हत्या और जेवर लूट कर फरार हुए राहुल पर एक लाख रुपये का इनाम था। पूर्व में पुलिस ने गिरोह के कुछ सदस्यों को पकड़ा था। जिन्होंने राहुल के बारे में जानकारी दी थी। साथ ही फुटेज में भी राहुल नजर आ रहा था। इंस्पेक्टर अलीगंज धर्मेंद्र सिंह यादव के मुताबिक कपूरथला अलीगंज सेक्टर-बी में निखिल अग्रवाल की तिरुपति ज्वैलर्स के नाम से दुकान है। 8 दिसंबर 2021 की सुबह निखिल, कर्मचारी श्रवण कुमार और दो महिला कर्मचारी दुकान में मौजूद थे। उसी दौरान बदमाश धड़धड़ाते हुए दुकान में घुस गए थे।

असलहों से लैस बदमाशों ने जेवर लूट लिए थे। भागते वक्त श्रवण ने एक बदमाश को दबोच लिया था। जिसने असलहे से श्रवण के पेट में गोली मार दी थी। जिससे कर्मचारी की मौत हो गई थी। इंस्पेक्टर के मुताबिक सीसीटीवी फुटेज में शाहजहांपुर जलालाबाद निवासी राहुल नजर आया था।
वहीं, गिरोह में शामिल हनी सिंह और गुड़ंबा निवासी रवि कुमार वर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। जिन्होंने भी राहुल के गोली चलाने की पुष्टि की थी। इस बीच पुलिस ने राहुल की तलाश के लिए शाहजहांपुर के अलावा अन्य जिलों में भी दबिश दी थी। लेकिन सफलता नहीं मिली थी।

गुरुवार रात बदमाश के अलीगंज में आने की सूचना मिली थी। जिसके आधार पर टीमें चेकिंग कर रहीं थीं। हसनगंज बंधा रोड के पास पहुंचने पर संदिग्ध व्यक्ति नजर आया था। जिसका हुलिया राहुल सिंह से मिल रहा था। इस पर सिपाहियों ने संदिग्ध को रोकने का प्रयास किया था। लेकिन बदमाश ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी थी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की थी। जिसमें गोली लगने से राहुल सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल पहुचाया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इंस्पेक्टर के मुताबिक मौके से पुलिस ने अवैध असलहा बरामद किया है।