पुदीने का रायता, रोजाना खाने से सेहत को मिलते हैं ये फायदे

जनादेश/डेस्क: दही हमारे शरीर के लिए कितनी लाभदायक होती है ये तो सब जानते है और पुदीना पेट को ठंडा रखने में मदद करता है। ऐसे में दही और पुदीना साथ मे दुगुना लाभ देते है। आयुर्वेद में भी पुदीने का उपयोग कई रोगों से मुक्ति पाने के लिए किया जाता रहा है। पुदीना की पत्तियां एंटीमाइक्रोबियल, एंटीवायरस, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एलर्जिक गुणों से भरपूर होती हैं। जो सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाने में मदद करती है।

ऐसे में पुदीने की पत्तियों से बना रायता खाने से गैस और एसिडिटी की समस्या से जल्द राहत मिल सकती है। आईए जान लेते हैं कैसे इसका सेवन करने से व्यक्ति को मिलते हैं फायदे। 

पेट की गर्मी करता है शांत-

पुदीना मेन्थॉल से भरपूर होता है जो पेट को ठंडा रखने के लिए जाना जाता है। ये पित्त की परेशानी को कम करता है और पाचन तंत्र से जुड़े हर अंग को शांत करता है। इस रायते में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूरिएंट्स भी मौजूद होते हैं जो डाइजेस्टिव एंजाइम फूड की तरह काम करते हुए इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) के लक्षणों से भी बचाव करते हैं। 

एसिडिटी से दिलाए निजात-

अगर आपको भी खाना खाने के बाद एसिडिटी की समस्या रहती है तो अपनी डाइट में पुदीने का रायता जरूर शामिल करें। इसे डाइट में शामिल करने से पाचन तंत्र अच्छी तरह काम करता है और व्यक्ति को गैस और बदहजमी की समस्या परेशान नहीं करती है। 

वेट लॉस-

पुदीने का रायत न सिर्फ स्वाद में अच्छा है बल्कि ये आपकी वेट लॉस जर्नी में भी मदद कर सकता है। इसका सेवन करने से मेटाबोलिज्म तेज होता है, जिससे अनहेल्दी फूड्स टिशूज से चिपक कर मोटापा बढ़ाने का कारण नहीं बनते। साथ ही ये ज्यादा तेल-मसाला खाने के नुकसान को भी कम करता है, जिससे वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है।