मेयर की चेतावनी पर एमडीडीए हुआ जागरूक, दो अवैध निर्माण किये सील

जनादेश/ऋषिकेश: मेयर की चेतावनी के बाद एमडीडीए के अधिकारी हरकत में आए। एमडीडीए ने हरिद्वार रोड और वेद पाटी मार्ग पर धर्मशाला और आश्रम को तोड़कर हो रहे अवैध निर्माण को सील कर दिया। टीम ने अवैध निर्माणकर्ताओं को नोटिस जारी कर निर्माण कार्य दोबारा शुरू करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

शुक्रवार को मेयर अनीता ममगाईं ने शहर और विस्थापित क्षेत्र में अवैध व्यावसायिक भवनों के निर्माण पर एमडीडीए के अधिकारियों को फटकार लगाई। मेयर ने अधिकारियों को अवैध भवनों को सील करने और दोबारा निर्माण कार्य शुरू न होने की कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे। मेयर ने अवैध भवन सील न करने पर एमडीडीए और संबंधित विभाग के खिलाफ न्यायालय में वाद दायर करने की चेतवानी दी थी।

शनिवार को तहसीलदार डॉ. अमृता सिंह के नेतृत्व में एमडीडीए की टीम वेद पाटी रोड स्थित एक धर्मशाला में पहुंची। यहां धर्मशाला के आधे से अधिक ढांचे को तोड़कर निर्माण कार्य चल रहा था। नीचे कई दुकानें बनी थी और ऊपर कमरों का निर्माण किया जा रहा था। टीम ने निर्माणाधीन भवन को सील कर दिया। हालांकि हाल में नीचे की दुकानों के निर्माण पर कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद टीम हरिद्वार रोड स्थित एक आश्रम पहुंची। टीम ने यहां आश्रम के भीतर हो रहे अवैध निर्माण को सील कर दिया। 

इसके बाद टीम ने खांड गांव विस्थापित में एक व्यावसायिक भवन के निर्माण का भी सील करना था। लेकिन तहसीलदार किसी जरूरी कार्य के चलते लौट गई। एमडीडीए के सहायक अभियंता पीपी सिंह ने बताया कि पुलिस बल मिलने के बाद दोबारा कार्रवाई शुरू की जाएगी। बताया कि खांडगांव विस्थापित क्षेत्र में भी अवैध निर्माण को जल्द सील किया जाएगा।