सभी चर्चाओं पर लगा विराम 22 सितंबर को मेयर प्रत्याशी राखी गुप्ता करेंगी नामांकन

जनादेश/छपरा: छपरा नगर निगम की भावी प्रत्याशी श्रीमती राखी गुप्ता के द्वारा मेयर चुनाव को लेकर पूरी ताकत झोंकी जा रही है। वह हर रोज शहर के विभिन्न मोहल्लों में जाकर लोगों से संपर्क कर अपने पक्ष में गोलबंद करने की कोशिश कर रही है। श्रीमती राखी गुप्ता और वरुण प्रकाश के द्वारा पिछले एक महीने मे छपरा शहर के अधिकतर वार्डों मे मोहल्ला वासियों से मुलाकात डोर टू डोर कर अपने पक्ष में समर्थन करने की अपील कर रही है।

प्रेस वार्ता कर राखी गुप्ता ने बताया कि छपरा नगर निगम मेयर पद हेतु नामांकन करेंगे। सुबह 10:00 बजे उनके आवास श्रीप्रकाश ऑर्नामेंट्स से नामांकन रैली निकाली जाएगी। नामांकन के बाद शहर भ्रमण भी किया जायेगा। अफवाहों के दौर के बाद यह स्पष्ट कर देना चाहती हूं कि मैं चुनाव लड़ूंगी और जीतूंगी। मेरा समर्थन किसी प्रत्याशियों को नहीं है। मेरे समर्थन को लेकर के चुनाव मैदान में हुंकार भरने वाले प्रत्याशियों को स्पष्ट कहना है कि अपने दम पर चुनाव मैदान में आए झूठी अफवाह ना उठाएं।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान उन्होंने मतदाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह वादा करती हैं कि पूरी ऊर्जा का प्रगतिशील सोच के साथ छपरा नगर निगम को पुनस्थापित कर बेहतर नेतृत्व देने के लिए पूरे मनोयोग से प्रयत्नशील प्रयास करेंगी। पिछले जितने भी जनप्रतिनिधि मेयर चुनकर गए वह कभी दफ्तर छोड़कर नगर के किसी मोहल्ले का दौरा तक नहीं किया। जनता की समस्याओं से रूबरू नहीं हुए। राज्य सरकार द्वारा नगर के विकास कार्य हेतु प्रत्येक वर्ष करोड़ों की राशि दी जाती है और इन लोगों ने राशि का बंदरबांट कर छपरा नगर निगम को उसी हाल में छोड़ दिया।

वरुण प्रकाश ने कहा कि इस बार का चुनाव कोई खास नही आम आदमी के द्वारा मेयर का चुनाव किया जा रहा है, मैं आप सब से वादा करता हूँ कि बिहार सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा चलाए जा रहे सभी जन कल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने का हमेशा प्रयास किया है और नगर के सभी समस्याओं का निवारण कर आम जनता को अधिक से अधिक लाभ दिलाने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि नगर की प्रबुद्ध जनता का उन्हें अवश्य समर्थन व आशीर्वाद प्राप्त होगा। आप सभी के समर्थन और सहयोग से मिलजुल कर छपरा नगर निगम को स्वच्छ, सुंदर और सुरक्षित बनाएंगे। इस अवसर पर रविशंकर गुप्ता, राजीव रंजन सोनी, संजीत स्वर्णकार, पारस जी आदि उपस्थित थे।