जानिए क्या डायबिटीज में पीनी चाहिए ग्रीन टी ? 

जनादेश/डेस्क: आजकल शुगर की बीमारी एक आम समस्या बन गई है।  हर घर में आपको एक शुगर पेशेंट मिल जाएगा। डायबिटीज ज्यादातर गलत खानपानऔर लाइफस्टाइल की वजह से होता है। डायबिटीज में ब्लड का शुगर लेवल बढ़ जाता है। जो लोग शुगर के मरीज हैं उन्हें चीनी से दूरी बना लेनी चाहिए और फिट रहने के लिए रोजाना एक्सरसाइज भी करना चाहिए। एक रिसर्च हुई थी जिसमें दावा किया गाया था कि ग्रीन टी के सेवन से शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

इसके अलावा अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो भी ग्रीन टी पी सकते हैं। अभी हाल ही में एक शोध हुआ है जिसमें पता चला है कि ग्रीन टी पीन से डायबिटीज का खतरा कम होता है। रिसर्च में हुए अन्य खुलासों के बारे में जानते हैं। इस रिसर्च में ये पता चला है कि ग्रीन टी पीने से सेहत को बहुत फायदा होता है। शोध में लगभग 10 लाख लोगों को शामिल किया गया था।  रिसर्च में ये बात सामने आई हैं कि जो लोग रोजाना 2 कप ग्रीन टी पीते हैं उन्हें डायबिटीज होने का खतरा 4 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

हालांकि शोध में इस बारे में नहीं पता चल पाया है कि ग्रीन टी पीने से डायबिटीज का खतरा क्यों कम होता है। वैसे रिसर्चर्स का कहना है कि ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो सेल्स को डैमेज होने से बचाते हैं। जो लोग वजन बढ़ने से परेशान हैं वो ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा ग्रीन टी का सेवन करने से पार्किंसन का खतरा कम होता है। इसमें बहुत ज्यादा मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो बालों की ग्रोथ के लिए काफी फायदेमंद है।