प्री-एनेस्थीसिया मूल्यांकन के महत्व की दी गयी जानकारी

जनादेश/ऋषिकेश: एम्स ऋषिकेश के एनेस्थिसियोलॉजी विभाग के तत्वावधान में विश्व संज्ञाहरण दिवस मनाया गया। संज्ञाहरण दिवस पर लोगों को प्री-एनेस्थीसिया मूल्यांकन के महत्व की जानकारी दी गई।

बुधवार को एम्स ऋषिकेश में एनेस्थिसियोलॉजी विभाग में कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसका शुभारंभ कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर डा. मीनू सिंह ने किया। डीन शैक्षणिक प्रो. जया चतुर्वेदी ने कहा कि विश्व संज्ञाहरण दिवस वर्ष 1846 में डब्ल्यूटीजी मॉर्टन द्वारा ईथर एनेस्थीसिया के पहले सफल प्रदर्शन की याद में हर वर्ष मनाया जाता है।

कार्यक्रम के तहत प्री एनेस्थीसिया चेकअप ओपीडी के समीप नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया। लोगों को प्री-एनेस्थीसिया मूल्यांकन का महत्व बताया गया। ज्ञानवर्धक नाट्य प्रस्तुति को मरीजों और तीमारदारों ने खूब सराहा। इस दौरान सभी को सीपीआर तकनीक का अभ्यास करवाया गया। मौके पर प्रोफेसर संजय अग्रवाल, प्रो. वाईएस पयाल, प्रो. डीके त्रिपाठी, डॉ. अंकित अग्रवाल, डॉ. अजीत कुमार, डॉ. गौरव जैन, डॉ. अजय कुमार, डॉ. प्रियंका गुप्ता, डॉ. दीपक सिंगला, डॉ. प्रवीण तलवार, डॉ. भावना गुप्ता, डॉ. मृदुल धर आदि उपस्थित रहे।