बिहार में अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत, 9 घायल

जनादेश/डेस्क:  बेगूसराय में कल विभिन्न स्थानों पर बाइक सवार हमलावरों की अंधाधुंध गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि नौ अन्य घायल हो गए। इस घटना पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि बेगूसराय की घटना बिहार के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। बिहार में जब से महागठबंधन की सरकार बनी है तब से कानून व्यवस्था बहुत बिगड़ गई है। बेगूसराय में शूटिंग की घटना पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि राज्य में लोग खासकर महिलाएं डरी हुई हैं। सत्ता के लालच में CM नीतीश कुमार ने राज्य को जंगल राज में बदल दिया है, जनता को जवाब चाहिए। बेगूसराय में इतनी बड़ी घटना हुई है, CM को इस्तीफा देना चाहिए।

डीआईजी बेगूसराय सत्य वीर सिंह ने बेगूसराय के एक अस्पताल में सामूहिक गोलीबारी की घटना के पीड़ितों से मुलाकात की। आपको बता दे कि योगेंद्र कुमार (SP, बेगूसराय) को सूचना मिली थी कि 4 थाना क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर विवेकहीन तरीके से 2 अपराधियों ने गोलियां चलाई। घटना में कुछ लोगों को गोली लगी है। हमारी टीमों ने पूरे ज़िले में नाकेबंदी कर दी है। CCTV की जांच करा रहे हैं। अपराधियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। इसी के साथ बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा दुर्भाग्य है कि जब से बिहार में गठबंधन की सरकार बनी है,अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। इतना ही नहीं बेगूसराय में गोलीबारी की घटना पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा बिहार का दुर्भाग्य है कि बिहार में सरकार नाम की कोई चीज नहीं रह गई है।

बिहार के मुख्यमंत्री को भय लगता है ये कहने में कि मैं जंगल राज का हूं, जिस दिन वे ऐसा कहेंगे वहां के उपमुख्यमंत्री उन्हें सत्ता से हटा देंगे। जब अपराधी बेखौफ हो जाते हैं तो बेगूसराय जैसी घटना घटती है। 30 किमी तक चार थाने से होते हुए अपराधी रोड से बिना रोक टोक गुजरते हैं बेखौफ गोलियां चलाते हैं। लोगों में भय नाम की चीज खत्म हो गई है।