पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई

जनादेश/डेस्क: पाकिस्तान का राजनीतिक संकट अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। नेशनल असेंबली में निंदा के प्रस्ताव को खारिज करने पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होती है। पाक के मुख्य न्यायाधीश उमर अता बंदियाल ने इस मामले से अवगत कराते हुए राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और स्पीकर को नोटिस जारी किया है। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के अध्यक्ष उमर ने चेतावनी जारी की और असंवैधानिक कदम उठाने से परहेज करने का आदेश दिया। मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि नेशनल असेंबली के विघटन के संबंध में प्रधान मंत्री और राष्ट्रपति द्वारा शुरू किए गए सभी आदेश और कार्य न्यायालय के आदेशों के अधीन होंगे।

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने अविश्वास प्रस्ताव पर नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी के फैसले पर रोक लगाने के अनुरोध को खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति के सभी आदेश और कार्य न्यायालय के आदेशों के अधीन होंगे। इसके साथ ही राजनीतिक दलों को भी जिम्मेदारी से काम करने का निर्देश दिया गया है और उन्होंने कहा कि सभी को अपना काम जिम्मेदारी से करना चाहिए ताकि देश में न्यायिक व्यवस्था की स्थिति खराब न हो। जानकारी के उद्देश्य से हम आपको सूचित करते हैं कि पाकिस्तान में विपक्षी दल ने इमरान खान की सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पेश किया था, जिसे नेशनल असेंबली के उपाध्यक्ष ने खारिज कर दिया था।