FLAVORED-CONDOM

यहां अचानक क्यों बढ़ी फ्लेवर्ड कंडोम की मांग, जानिए कारण  

जनादेश/कोलकाता: जहां एक तरफ पश्चिम बंगाल लगातार सुर्खियों मे छाया हुआ हैं। वहीं अब ईडी की रेड के साथ साथ युवाओं में अजीब नशे की लत के कारण भी बंगाल चर्चा में है। दरअसल युवा अजीब तरीके से कंडोम को अपने नशे के लिए पसंदीदा साधन के रूप में पसंद कर रहे हैं। यह काफी अजीबोगरीब खुलासा हुआ है। एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले कुछ दिनों से, दुर्गापुर के विभिन्न हिस्सों जैसे सिटी सेंटर, बिधाननगर, बेनाचिती, और मुचिपारा, सी जोन, ए जोन में फ्लेवर्ड कंडोम की बिक्री में अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी देखी जा रही है।

जानिए क्यों बिक्री में भारी बढ़ोत्तरी

बता दें कि अब तक तो टूथपेस्ट से लेकर जूते की स्याही तक, पेट्रोल से लेकर बिना पर्ची के मिलने वाली खांसी की दवा या एयरोसोल स्प्रे या यहां तक कि हैंड सैनिटाइजर तक, इन सब से नशा किया जाता रहा है लेकिन अब इस लिस्ट में कंडोम भी जुड़ गया है। नशा करने के इस अजीब तरीके पर सवाल उठे हैं। इस पूरे मामले को लेकर पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में लोग सहमे हुए हैं। साथ ही दुर्गापुर अनुमंडल अस्पताल के डॉक्टर धीमान मंडल ने इसकी जांच की मांग की है।

 क्या कंडोम को पानी में भिगोने से मादक पदार्थ बनने की संभावना

जानकारी के अनुसार,कंडोम को पानी में भिगोने से मादक पदार्थ बनने की संभावना है। इसे लेकर युवा भी भरपूर फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह यह नहीं समझ पा रहे हैं कि कंडोम का लेटेक्स कंपाउंड पानी के साथ कैसे रिएक्टिव हो सकता है।हालांकि, उन्होंने कहा कि कंडोम में सुगंधित यौगिक होते हैं जो युवाओं में लत पैदा कर रहे होंगे। रात भर गर्म पानी में कंडोम भिगोने से मादक कंपाउंड में बड़े कार्बनिक अणुओं ऑर्गेनिक मॉलिक्यूल के टूटने के कारण नशा होता है।

इसे भी पढ़े – हल्द्वानी: कुमाऊं के बड़े अस्पताल में धोखाधड़ी, बड़े पैमान पर मरीजों से वसूली

इश दौरान यह भी खुलासा हुआ है कि इसके ज्यादातर खरीदार पुरुष हैं, हालांकि महिलाएं भी नशा करने के लिए कंडोम लेने आती हैं। गौरतलब है कि युवा नशे के लिए इस तरह के तरीकों को अपना रहे हैं। इनमें से ज्यादातर चीजें आसानी से मिल जाती हैं।