कंपनियों की मांग पर सरकार जल्द करेगी फैसला

जनादेश/देहरादून: चारधाम यात्रा में केदारनाथ हेली सेवा पर महंगाई की मार पड़ सकती है। एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएस) के दाम में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी होने के कारण केदारनाथ हेली सेवा का किराया भी बढ़ सकता है। हेली कंपनियों की ओर से सरकार से किराया बढ़ाने देने की मांग की गई है। हेली एविएशन एसोसिएशन की ओर से दिए किराया बढ़ोतरी के प्रस्ताव को जल्द ही सरकार के समक्ष रखा जाएगा। उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण (यूकाडा) ने केदारनाथ धाम के लिए गुप्तकाशी, सिरसी और फाटा से हेली सेवा संचालित करने को नौ कंपनियों के साथ तीन साल का अनुबंध किया है।

जिसमें गुप्तकाशी से केदारनाथ के लिए एरो एयर क्राफ्ट, आर्यन एविएशन, फाटा से केदारनाथ के लिए पवन हंस, चिपसन एविएशन, थंबी एविएशन, पिनाक्ल एयर और सिरसी से केदारनाथ के लिए एरो एयर क्राफ्ट, हिमालयन हेली व केट्रल एविएशन शामिल हैं। दो साल कोरोना महामारी के कारण चारधाम यात्रा प्रभावित रही। जिससे हेली सेवा का संचालन भी नहीं हो पाया था। इस बार भी अनुबंध के अनुसार हेली कंपनियों ने किराये में कोई वृद्धि नहीं की थी। लेकिन एटीएस के दाम में 40 प्रतिशत वृद्धि होने पर हेली कंपनियों का कहना है कि तय किराये में हेली सेवा संचालन करना मुश्किल है। हेली एविएशन एसोसिएशन की ओर सचिव नागरिक नागरिक उड्डयन से किराया बढ़ोतरी में छूट देने की मांग की गई है। एटीएस के दाम बढ़ने से हेली एविएशन एसोसिएशन की तरफ से केदारनाथ हेली सेवा का किराया बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है। इस पर सरकार ही फैसला लेगी। जल्द ही मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्ताव रखा जाएगा।

15 दिन के लिए ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग फुल
छह मई को केदारनाथ धाम के कपाट खुल रहे हैं। चार अप्रैल से गढ़वाल मंडल विकास निगम की वेबसाइट पर हेली सेवा के लिए ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी गई थी। दो दिन के भीतर 20 मई तक हेली सेवा की ऑनलाइन बुकिंग फुल हो गई है।

वर्तमान में ये है किराया
हेलीपैड                                                     किराया

गुप्तकाशी से केदारनाथ                               7750
फाटा से केदारनाथ                                     4720
सिरसी से केदारनाथ                                   4680