त्रिवेंद्र सरकार की मंजूरी आज से हरिद्वार में अस्थियां प्रवाहित कर सकते है लोग

देहरादूनः उत्तराखंड सरकार ने गुरुवार को कैबिनेट बैठक के दौरान कई बड़े फैसले लिए। त्रिवेंद्र सरकार ने उत्तराखंड में शराब के साथ ही पेट्रोल डीजल पर अतिरिक्ट टैक्स लगाया गया। इसके बाद अब राज्य में पेट्रोल-डीजल के साथ शराब महंगी हो गई।
इसके साथ ही साथ ही त्रिवेंद्र सरकार ने लॉकडाउन के बीच एक और बड़ा फैसला लिया। त्रिवेंद्र सरकार ने विवाह, अंत्येष्टि के बाद आज (शुक्रवार) से अस्थि विसर्जन की अनुमति दे दी है। चौपहिया वाहन में ड्राइवर समेत तीन लोग अस्थि विसर्जन के लिए एक से दूसरे जिले में जा सकेंगे। इस फैसले से हरिद्वार में गंगा नदी में परिजन की अस्थि विसर्जन के इच्छुक लोगों को बड़ी राहत मिलेगी।
सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि सामाजिक और धार्मिक संगठन अस्थि विसर्जन की लिए रियायत देने की मांग कर रहे थे। सरकार ने व्यावहारिकता को देखते हुए अब इसकी अनुमति दे दी है। दूसरे राज्यों से हरिद्वार आने वाले लोगों को अपनी सरकार से इजाजत लेनी होगी। सरकार की हरी झंडी के बाद ही उन्हें उत्तराखंड की सीमा में प्रवेश दिया जाएगा।
आपको बता दें कि लॉकडाउन की वजह से राज्य की सीमाएं बंद हैं। किसी को भी राज्य में दाखिल होने की इजाजत नहीं दी जा रही है। लेकिन अब लॉकडाउन के तीसरे चरण में सरकार की ओर से थोड़ी नरमी बरती गई है।
इन फैसलों पर भी उत्तराखंड सरकार ने लगाई मुहर

  • प्रवासियों के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना: निर्माण सेक्टर के लिए 25 लाख और सेवा क्षेत्र में 10 लाख तक के प्रोजेक्ट लगाए जा सकेंगे।
  • सरकार ने अपनी तैयारियों को सितंबर से बढ़़ाकर नवंबर के हिसाब से तय किया।
  • 50 हेक्टेयर के पट्टे में मशीन से खनन की मंजूरी। सरकार के इस फैसले से करीब 200 पट्टा धारकों को लाभ मिलेगा।
  • उत्तराखंड के हरेक व्यक्ति को चरणबद्ध तरीके से वापस लाएंगे।
  • मार्केटिंग इंस्पेक्टर का पद अब लोक सेवा आयोग का चुनाव न हुआ तो सरकार मंडी अध्यक्ष नामित कर सकेगी।
  • हेमवती नंदन बहुगुणा चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति की आयु अब 70 साल ।
  • आयुष विभाग को दवा खरीद के लिए टेंडर में छूट मिलेगी।
  • राज्य सरकार शहरी क्षेत्र में भी प्रवासियों के लिए खोलेगी रोजगार के रास्ते।
  • श्रमिकों को ओवरटाइम और हफ्ते में छुट्टी भी मिलेगी