सरकारी स्कूल में छात्रों की उपस्थिति को लेकर हुआ फर्जीवाड़ा, प्रिसिंपल के खिलाफ सख्त एक्शन

जनादेश/डेस्क: उत्तर प्रदेश के संभल जिले में डीएम के औचक निरीक्षण के दौरान फर्जीवाड़े का मामला साने आया हैं। बता दें कि सरकारी स्कूल में छात्रों की उपस्थिति के फर्जीवाड़े का हैरान मामला हैं। दरअसल पवासा विकासखंड के कमपोजिट विद्यालय में अचानक पहुंचे डीएम को विद्यालय के निरीक्षण के दौरान उपस्थिति रजिस्टर में 147 छात्राओं की उपस्थिति दर्ज मिली और विद्यालय में सिर्फ 61 छात्र-छात्राएं ही मौके पर उपस्थित मिले।इसी के साथ मिड डे मील में भी धांधली मिली। इस दौरान सख्ती बरतते हुए नाराज डीएम ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को निलंबित कर दिया ।

जानकारी के मुताबिक, संभल के डीएम मनीष बंसल पंवासा विकासखंड के ग्राम मुजफ्फरपुर के संविलियन विद्यालय के निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। इस दौरान उन्होनें विद्यालय में छात्र छात्राओं के उपस्थिति रजिस्टर को चेक किया तो रजिस्टर में कक्षा एक से कक्षा आठ तक के 147 बच्चों की उपस्थिति दर्ज मिली लेकिन कक्षाओं में जाकर बच्चों की उपस्थिति को चेक किया तो मौके पर कक्षा एक से लेकर कक्षा आठ तक 61 छात्र छात्राएं ही मौजूद मिले।तो वहीं मिड डे मील रजिस्टर को चेक किया तो मिड डे मील रजिस्टर में भी बच्चों की उपस्थित संख्या के सापेक्ष कम पायी गयी और रसोई घर में छात्र छात्राओं के खाने के बर्तन भी नहीं पाए गए। हालांकि डीएम मनीष बंसल ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक जिकारुरहमान को निलंबित कर दिया है।