पूर्व सांसद धनंजय सिंह रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार,14 दिन की रिमांड पर भेजे गए जेल

लखनऊः उत्तर प्रदेश के जौनपुर के पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह इन दिनों काफी चर्चा में है। उन्हें जल निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर को जान से मारने की धमकी देने के साथ रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। जिसके बाद उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है।वहीं, पूर्व सांसद ने इसे राजनीति साजिश करार देते हुए प्रदेश के राज्यमंत्री गिरीश यादव पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

बता दें कि जौनपुर से बहुजन समाज पार्टी से सांसद रहे बाहुबली धनंजय सिंह का अपराध जगत तथा विवादों से काफी पुराना नाता रहा है। धनंजय सिंह को रविवार रात पुलिस ने गिरफ्तार किया। आज उनको जौनपुर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। धनंजय सिंह को अपहरण और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में आवास पर छापा मारकर गिरफ्तार किया गया।

नमामि गंगे परियोजना के प्रोजेक्ट मैनेजर को अगवा कर धमकी देने के आरोप में जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह सहित दो को लाइन बाजार पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। न्यायालय ने 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में आरोपित पूर्व सांसद व उसके सहयोगी विक्रम सिंह को जेल भेज दिया। पुलिस अन्य आरोपितों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है।

गौरतलब है कि जौनपुर में करीब 300 करोड़ रुपए से सीवर लाइन बिछाने का काम चल रहा है। पचहटिया स्थित जल निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल का आरोप है- पूर्व सांसद ने काम में बाधा पहुंचाई। अपने आदमियों से जबरदस्ती मुझे अपने आवास पर बुलाकर रंगदारी मांगी और जान से मारने की धमकी दी। प्रोजेक्ट मैनेजर ने पूर्व सांसद समेत चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया।

वहीं पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने अपनी गिरफ्तारी को राजनीतिक साजिश करार दिया है। यह केस प्रदेश के नगर विकास राज्यमंत्री गिरीश यादव ने राजनीतिक द्वेष और उनकी लोकप्रियता के चलते दर्ज कराया है। उन्होंने जिले में कोई काम नहीं किया और 2017 में मंत्री बनने के बाद से ही सिर्फ और सिर्फ भ्रष्टाचार किया। अब जनता चुनाव में इसका जवाब देगी। हमने जिले में कई विकास की योजना को लाने का प्रयास किया, लेकिन मंत्री गिरीश यादव सभी में अडंगा लगवा रहे हैं। अपने लोगों को ठेकेदारी में लाने का उनका प्रयास सफल नहीं होगा।