सारण में पहली बार कन्याओं का होगा सामूहिक विवाह,11 जोड़े होंगे लाभान्वित

जनादेश/छपरा: युवा क्रान्ति रोटी बैंक छपरा द्वारा करवाए जा रहे सामूहिक विवाह आज के समय में किसी वरदान से कम नही है.. सरकार दहेज प्रथा के विरुद्ध सशक्त अभियान चला रही है बेटी बचाओ अभियान को बढ़ावा देने वाली संस्था युवा क्रांति रोटी बैंक इस साल 11 जोड़ी बेटियों का सामुहिक शुभ विवाह संपन्न कराएगी । वैवाहिक जोड़ो का चयन कर लिया गया है ।चंद्रावती पैलेस में होने वाले अभिवंचित और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की 5 बेटियों के भव्य सामूहिक शादी का साक्षी छपरा होगा।

युवा क्रांति रोटी बैंक के संस्थापक ई० विजय राज ने कहा एक तो छोटी सी जिदंगी उपर से गरीबी का भार, ऐसे में परिवार को दो वक्त की रोटी मिल जाए यही बहुत है, लेकिन समाज की मान मर्यादा को ध्यान में रखते हुए अपने बच्चो का घर बसाना उन परिवारों के लिए चुनौती से कम नही है जिन्हे हर एक वक्त के खाने के बाद दूसरे वक्त का सोचना पड़ता है, और जी तोड़ मेहनत करने के बाद परिवार का गुजर बसर हो पाता है, ऐसे में अगर कोई विवाह की सोंचे भी तो कैसे ? वहीं संरक्षित नितू गुप्ता ने इस पहल को समाज की सोच में बदलाव के लिए काफी अहम बताया। उन्होंने कहा सामूहिक विवाह सिर्फ एक विवाह का आयोजन भर नहीं है, अपितु इसके प्रभाव और समाज हित में लाभ बड़े दूरगामी हैं।

महासचिव राखी गुप्ता के कहा किसी कमजोर, जरूरतमंद या असहाय परिवार की कन्या का विवाह कराने से बढ़कर कोई पुण्य नहीं है। युवा क्रांति रोटी बैंक संस्था सामूहिक विवाह जैसे सामाजिक पुण्य कार्य में अपनी सराहनीय भूमिका निभा रही हैं।डॉ०मनीषा सिंह ने कहा कि सामूहिक विवाह का बढ़ता प्रचलन समाज के भले के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इससे समय की बर्बादी, दान-दहेज और फिजूलखर्ची जैसी कुरीतियों से भी समाज को मुक्ति मिल सकती है।