प्रदूषण की वजह से Noida की जनता का हाल बेहाल, जल रहीं आंखें, सांस लेने में हो रही दिक्कत

जनादेश/दिल्ली: दिल्ली-NCR में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। बता दे कि प्रदूषण की वजह से लोगों का सांस लेना दूभर हो चुका है। सांस और फेफड़ों के मरीजों को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदूषण के खतरनाक स्तर पर पहुंचने के बाद मेजर प्रिकॉशन स्टेप उठाए जा रहे हैं।

नोएडा अथॉरिटी ने नोएडा में सभी कंस्ट्रक्शन पर बैन लगा दिया है और एसेंशियल सर्विसेज में चल रही डीजल गाड़ियों को छोड़कर सभी डीजल गाड़ियों पर बैन लगा दिया गया है। इनमें सिर्फ उसी में डीजल गाड़ियों को छूट होगी जिनका इंजन यूरो सिक्स का होगा। इसके साथ ही डीएनडी पर लगाया गया स्मॉग टावर भी खराबी के चलते बंद हो गया है। खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके एयर क्वालिटी इंडेक्स को देखते हुए जिला प्रशासन और अथॉरिटी आप सतर्क हो गई है और उन्होंने लगातार बैन की कार्रवाई शुरू कर दी है।

हालांकि इसी क्रम में नोएडा में सभी कंस्ट्रक्शन साइट पर काम को लेकर रोक लगा दी गई है। किसी प्रकार का कोई भी कंस्ट्रक्शन बिल्डर या प्राइवेट व्यक्ति नहीं कर पाएगा। अब जब तक एयर क्वालिटी इंडेक्स अपने सामान्य स्तर पर नहीं आता तब तक गौतम बुद्ध नगर में सभी तरीके के प्राइवेट और कमर्शियल कंस्ट्रक्शन साइट्स पर रोक लगा दी गई है। किसी को भी काम करने की इजाजत नहीं होगी। अगर कोई भी काम करता हुआ पाया गया तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ-साथ यह भी आदेश जारी किया गया है कि डीजल इंजन वाली एसेंशियल सर्विसेज में चलने वाली गाड़ियों को छोड़कर सभी गाड़ियों के चलने पर बैन लगाया गया है। इनमें सिर्फ उन्हीं गाड़ियों को छूट दी जाएगी जिनमें यूरो सिक्स का इंजन होगा। इसके साथ ही डीएनडी पर लगाया गया स्मॉग टावर भी कंप्रेसर की खराबी के चलते बंद पड़ा है। इसके बारे में पूछने पर किसी भी अधिकारी ने कुछ भी बताने से फिलहाल मना कर दिया है।