देहरादूनः कोेरोना से जंग के बीच सिपाही की सड़क हादसे में मौत

क्वारंटीन सेंटर में पीपीई किट देकर लौट रहा था जवान,हादसे ने छीन लिया सात साल की बेटी के सर से बाप का साया

शहीद स्मारक में पूरे राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

देहरादूनः उत्तरखंड में कोरोना से जंग के बीच अपना फर्ज निभाते हुए एक सिपाही की मौत हो गई है। राजधानी  देहरादून के प्रेमनगर क्षेत्र में सोमवार देर रात क्वारंटीन बिधोरली सेंटर पर पीपीई किट  देकर लौट रहे सिपाही की सड़क हादसे में मौत हो गई है। जवान की मौत की खबर से परिजनों में कोहराम मचा है। बता दें कि हादसे में सात साल की मासूम के सिर से बाप का साया उठ गया है। सिपाही को शहीद स्मारक में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

जानकारी के अनुसार सिपाही संजय गुर्जर सोमवार रात क्वारंटीन बिधोरली सेंटर पर पीपीई किट  लेकर गया था।  वहां से लौटते वक्त रास्ते में बाइक फिसलने से दर्दनाक हादसा हो गया। और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। संजय को आनन-फानन में सिनर्जी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
जहां घायल सिपाही मंगलवार को दोपहर करीब बारह बजे दम तोड़ दिया। सिपाही की मौत से पुलिस महकमे में शोक व्याप्त है।

पुलिस ने बताया कि देर शाम सूचना मिली थी कि कासमोई स्टैन्जा में कोरेन्टाइन किये गये मानसिक रूप से कमजोर राजू उर्फ राजा ने तोड फोड करते हुए आगजनी का प्रयास किया है,मामले को गंभीरता से लेते हुए और व्यक्ति को वहां पर उपस्थित पुलिस कर्मियों की सुरक्षा करते हुए रोका जाना नितान्त आवश्यक था, जिसके लिये थाना प्रेमनगर से कां0 संजय कुमार को तत्काल् पीपीई किट लेकर कोरोनटाइन सेन्टर रवाना किया गया। पीपीई किट पहुंचाने के उपरान्त वापसी में लौटते समय जगंल के रास्ते पर नन्दा की चौकी के पास हादसा हो गया।

मृतक सजय कुमार वर्ष 2006 बैच के आरक्षी थे तथा मूल रूप से जनपद हरिद्वार के रहने वाले थे तथा वर्तमान में अपनी पत्नी तथा 07 वषीय पुत्री के साथ पित्थूवाला में रह रहे थे। दिवंगत संजय कुमार के पार्थिव शरीर को पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मारक में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।