देश का सबसे बड़ा कार चोर गिरफ्तार, 5000 कार चोरी का था आरोप, ED ने की कार्रवाई

जनादेश/डेस्क: दिल्ली से एक बड़ी खबर सामने आई हैं। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने कामयाबी हासिल की हैं। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने देश का सबसे बड़ा कार चोर अनिल चौहान को पकड़ लिया हैं। जिसपर 5000 से ज्यादा कारें चुराने का आरोप है। हालांकि अनिल चौहान को दिल्ली की सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने असम से गिरफ्तार किया है। मामले पर डीसीपी श्वेता चौहान ने बताया कि आरोपी अनिल चौहान 27 साल से अपराध की दुनिया मे है और कार चोरी के अलावा उस पर हत्या,आर्म्स एक्ट और तस्करी के 180 मामलों में शामिल रहा है। हैरानी की बात ये है कि आरोपी अनिल चौहान असम सरकार में क्लास-1 कॉन्ट्रैक्टर भी है।

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय जांच एजेंसी ED ने भी आरोपी अनिल चौहान पर शिकंजा कसा था। ED ने अनिल चौहान के खिलाफ PMLA के तहत रेड कर उसकी प्रॉपर्टी भी जब्त की थी। वहीं गिरफ्तारी के दौरान उसके पास से 6 देसी तमंचे और 7 जिंदा कारतूस भी बरामद हुए हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, अनिल चौहान के पिता आर्मी में लेटफ्टिनेंट देशराज चौहान थे। अनिल चौहान फिलहाल असम जे तेजपुर में अपना ठिकाना बनाया हुआ था। और वह 90 के दशक से कार चोरी कर रहा था। सबसे ज्यादा मारुति 800 कारें अनिल ने ही चोरी की थीं।

अनिल चौहान कारें चोरी कर जम्मू कश्मीर ,नेपाल और उत्तर पूर्व के राज्यों में बेचा करता था वो भी फर्जी दस्तावेज के आधार पर। दरअसल अनिल चौहान को दिल्ली पुलिस के अलावा उत्तर पूर्वी राज्यों की पुलिस अलग अलग मामलों में गिरफ्तार कर चुकी है।

गौरतलब है कि, आरोपी ने कार चोरी के धंधे से बेहिसाब दौलत कमाई है,उसकी संपत्तियां दिल्ली,मुंबई और उत्तर पूर्वी राज्यों में है। उसके खिलाफ ईडी ने मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया था। 1990  में अनिल चौहान दिल्ली के खानपुर इलाके में रहता था और ऑटो रिक्शा चलाता था, फिर वो अपराध की दुनिया मे आया तो कभी पीछे नहीं मुड सका।हाल ही में चौहान के साथ असम में उसकी पत्नी और 7 बच्चे भी रह रहे थे।