खेल-खेल में बच्चों ने लगा दी अपनी ही झोपड़ी में आग

जनादेश/देहरादून: यह घटना रानीपोखरी थाना क्षेत्र के शांति नगर की है जहा आपस में खेलते हुए दो बच्चों ने अपनी झोपड़ी में आग लगा दी। देखते ही देखते पुरे झोपड़ी में आग फैलते गई और वहा रखे सिलिंडर ने आग पकड़ ली। सिलिंडर के आग पकड़ने के कुछ ही देर बाद ही वहा जबरदस्त धमाका हो गया।

इस जबरदस्त धमाके में गनीमत यह रही कि कोई आगजनी की चपेट में नहीं आया। शिशुपाल सिंह राणा जो की रानीपोखरी के थानाध्यक्ष है उनसे यह सुचना मिली कि वह झोपडी सुरेश चौहान की थी और वो शांतिनगर, थाना रानीपोखरी, जिला देहरादून के निवासी थे, सुरेश चौहान वहा के बस्ती में झोपड़ी बनाकर रहते हैं। सुरेश चौहान और उनकी पत्नी ध्याड़ी मजदूरी का काम करते हैं। और हर रोज की तरह रविवार को दोनों पति पत्नी काम पर गए हुए थे।

इसी दौरान उनके काम पर जाने के बाद उनके पांच और सात साल के दो बच्चे घर में थे। दोनों बच्चे झोपडी के अंदर खेल रहे थे और खेल-खेल में ही बच्चों ने किसी कागज में आग लगा दी। देखते ही देखते आग ने पूरी झोपड़ी को अपनी चपेट में ले लिया। झोपड़ी में आग लगते ही दोनों बच्चे भाग कर बाहर आ गए। कुछ ही देर में झोपड़ी के अंदर रखा सिलिंडर आग लगने से फट गया। गनीमत रही कि कोई भी घायल नहीं हुआ।