सीएम योगी ने दिए आगरा, मेरठ, कानपुर को लेकर सख्त निर्देश

लखनऊ।  कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रयासरत उत्तर प्रदेश सरकार के लिए तीन जिले चिंता का सबब बन गए हैं। आगरा, मेरठ और कानपुर में लगातार संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अब योगी सरकार ने इन जिलों में लॉकडाउन की सख्ती बढ़ाने के साथ ही विशेष निगरानी की व्यवस्था की है। इसके लिए पुलिस और प्रशासन के एक-एक वरिष्ठ अधिकारी को बतौर नोडल अधिकारी तैनात किया है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर कोरोना संक्रमण की स्थिति और लॉकडाउन की समीक्षा की। टीम-11 के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई इस बैठक में सबसे ज्यादा चिंता आगरा, मेरठ और कानपुर को लेकर जताई गई।लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन दिनों ही जिलों की विशेष निगरानी के निर्देश दिए हैं। यह अधिकारी इन जिलों में कैंप कर सुबह-शाम रिपोर्ट शासन को भेजेंगे।

लॉकडाउन को और सख्ती से पालन कराएंगे और यहां उच्च अधिकारी तीनों जिलों की अलग से समीक्षा करेंगे।अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि कानुपर में उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के प्रबंध निदेशक अनिल गर्ग और आइजी दीपक रतन को तैनात किया गया है। आगरा की जिम्मेदारी प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आलोक कुमार और आइजी विजय कुमार को सौंपी गई है, जबकि मेरठ की निगरानी सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव टी. वेंकटेश और आइजी लक्ष्मी सिंह करेंगी।

इसके अलावा वर्तमान में प्रतिदिन चार से पांच हजार नमूनों की जांच की जा रही है। योगी ने इसे 10 हजार करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में वित्त एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग और मुख्य सचिव आरके तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।