IPL के पहले मुकाबले में चेन्नई और कोलकाता में भिड़ंत

जनादेश/मुंबई: भारतीय क्रिकेट को नई पहचान दिलाने वाला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 10 टीम के साथ अपना रंग बिखेरने के लिए तैयार है। इस टूर्नामेंट का पहला मैच शनिवार को मौजूदा चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स और पिछले साल के उप विजेता कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमों ने इस सीजन अपना कप्तान बदला है। श्रेयस अय्यर कोलकाता नाइट राइडर्स के नए कप्तान हैं, जबकि चेन्नई की कमान रवींद्र जडेजा को दी गई है। चेन्नई की टीम ने आईपीएल के इतिहास में पहली बार अपना कप्तान बदला है और अब जडेजा के सामने धोनी की विरासत को आगे बढ़ाने की चुनौती होगी। धोनी आईपीएल के सबसे सफल कप्तानों में शामिल हैं। वहीं, जडेजा पहली बार किसी टीम की कप्तानी करेंगे। उनके पास घरेलू क्रिकेट में भी कप्तानी का अनुभव नहीं है।

स्टेडियम में जा सकेंगे दर्शक
देश में कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में होने के बाद क्रिकेट प्रेमियों को 2019 के बाद पहली बार स्टेडियम में जाकर मैचों का आनंद उठाने का मौका मिलेगा। आईपीएल के सभी मैच भारत में खेले जाएंगे और स्टेडियम की क्षमता के 25 प्रतिशत दर्शक इसे स्टेडियम में जाकर देख पाएंगे। दो नई टीम के जुड़ने से कुल मैचों की संख्या 60 से बढ़कर 74 हो गई है जिससे यह टूर्नामेंट दो महीने से भी अधिक समय तक चलेगा। सभी टीम हालांकि लीग चरण में 14-14 मैच ही खेलेंगी।

मुंबई और पुणे के चार स्थानों पर होंगे लीग मैच
भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को 2021 में कड़ा सबक मिला था जब उसे महामारी फैलने के कारण बीच में टूर्नामेंट स्थगित करना पड़ा और बाद में उसे यूएई में पूरा करना पड़ा था। टी20 लीग की फिर घर वापसी हो रही है। लीग चरण के मैच मुंबई और पुणे के चार स्थानों पर आयोजित किए जाएंगे ताकि हवाई यात्रा करने की जरूरत नहीं पड़े।

पिच को लेकर चुनौती
पिच क्यूरेटर के लिए दो महीने तक पिचों को जीवंत बनाए रखना चुनौती होगी लेकिन टूर्नामेंट में बड़े स्कोर बनने की पूरी संभावना है। इस साल ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्वकप खेला जाना है और ऐसे में आईपीएल कुछ भारतीय खिलाड़ियों का भाग्य भी तय करेगा।

मुंबई को घरेलू लाभ 
मुंबई इंडियंस की टीम अपने घरेलू मैदान पर खेलेगी लेकिन उसके कप्तान रोहित शर्मा स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्हें इसका कोई अतिरिक्त लाभ नहीं मिलेगा। सूर्यकुमार यादव, कीरोन पोलार्ड, जसप्रीत बुमराह और इशान किशन जैसा खिलाड़ी हालांकि अनुकूल परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाना चाहेंगे।

आरसीबी को फाफ का नेतृत्व 
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) में सभी निगाहें विराट कोहली पर टिकी रहेंगी जिन्होंने कप्तानी छोड़ दी है। लंबे समय तक सीएसके से जुड़े रहे फाफ डुप्लेसिस को आरसीबी की कप्तानी सौंपी गई है। देखना होगा कि उनकी अगुवाई में टीम का भाग्य पलटता है या नहीं।

चेन्नई की कमान जडेजा के हाथ  
दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी का आईपीएल में यह आखिरी सत्र हो सकता है। उन्होंने पहले मैच से पूर्व कप्तानी छोड़कर रविंद्र जडेजा को कमान सौंप दी है। जडेजा पर सभी की निगाह रहेगी क्योंकि उन्हें उस टीम की कमान संभालनी है जिसका 2008 से ही धोनी नेतृत्व कर रहे हैं जो चार बार की चैंपियन है।

श्रेयस-राहुल के नेतृत्व कौशल की क्षमता 
इस बार श्रेयस अय्यर, केएल राहुल, हार्दिक पंड्या और मयंक अग्रवाल के नेतृत्वकौशल की भी परीक्षा होगी। अय्यर केकेआर की जबकि राहुल लखनऊ और हार्दिक गुजरात की कमान संभालेंगे। अग्रवाल को पंजाब का कप्तान बनाया गया है। अय्यर इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स जबकि राहुल पंजाब किंग्स की कप्तानी कर चुके हैं।

हार्दिक पर नई जिम्मेदारी 
गुजरात टाइटंस के हार्दिक के लिए यह आईपीएल में कप्तानी का पहला अनुभव होगा। उनकी प्रगति पर भारतीय टीम प्रबंधन की भी नजर होगी क्योंकि नियमित तौर पर गेंदबाजी नहीं करने के कारण उन्होंने राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह गंवा दी थी।

कोलकाता के खिलाफ चेन्नई का रिकॉर्ड शानदार
आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच 26 मैच हुए हैं। इनमें से 17 मैच चेन्नई के नाम रहे हैं, जबकि आठ मैच कोलकाता ने जीते हैं। वहीं एक मैच का नतीजा नहीं निकला था। अब श्रेयस अय्यर की अगुवाई में कोलकाता की टीम कोशिश करेगी की चेन्नई के खिलाफ अपना रिकॉर्ड बेहतर करे। पिछले साल फाइनल मैच में कोलकाता को चेन्नई के खिलाफ ही हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में केकेआर इस हार का बदला भी लेना चाहेगी।

वानखेड़े की पिच में बल्लेबाजों का बोलबाला
वानखेड़े की पिच हमेशा से ही बल्लेबाजों की मददगार रही है। यहां गेंद अच्छे से बल्ले पर आती है और बल्लेबाजों को बड़े शॉट खेलने में आसानी रहती है। स्पिन गेंदबाजों को इस पिच से ज्यादा मदद नहीं मिलेगी। तेज गेंदबाजों को शुरुआत में थोड़ी स्विंग मिल सकती है, लेकिन इसके बाद धीमी गेंदें और सही टप्पे पर गेंदबाजी करना जरूरी होगा। टॉस जीतने वाली टीम पहले गेंदबाजी करना पसंद करेगी। इस मैदान में 170 से 180 के बीच का स्कोर अच्छा माना जाता है।

चेन्नई सुपरकिंग्स की संभावित प्लेइंग-11
ऋतुराज गायकवाड़, डेवोन कॉनवे, रॉबिन उथप्पा, अंबाती रायुडू, रवींद्र जडेजा (कप्तान), शिवम दुबे, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), ड्वेन ब्रावो, क्रिस जॉर्डन, एडम मिल्ने और प्रशांत सोलंकी।

कोलकाता नाइटराइडर्स की संभावित प्लेइंग-11
वेंकटेश अय्यर, अजिंक्य रहाणे, श्रेयस अय्यर (कप्तान), नीतीश राणा, सैम बिलिंग्स (विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, सुनील नरेन, टिम साउदी, शिवम मावी, वरुण चक्रवर्ती, उमेश यादव।