सम्पादकीय

लड़ते लड़ते साथ रहना शिवसेना-भाजपा की बड़ी पुरानी आदत है

394 00 Viewsअभय कुमार — साल 2013, जब भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार पर चर्चा तेज थी और नरेंद्र मोदी का नाम चर्चाओं के बाजार में सबकी जुबान पर था। उस वक्त शिवसेना सुप्रीमो बाला साहब ठाकरे ने अपनी ओर से सुषमा स्वराज का नाम आगे बढ़ाया था। हालांकि नरेंद्र मोदी के चेहरे पर […]

विशेष सम्पादकीय

अधिकार और दायित्व है मतदान

798 00 Viewsअभय कुमार  — 95 साल की बुर्जुगवार महिला की दिलीइच्छा है कि वह आखिरी बार अपने मत का उपयोग करे. उसे नहीं मालूम कि आने वाले पांच साल के बाद उसे मत डालने का अवसर जीवन में मिलेगा या नहीं लेकिन इस बार वह मौका नहीं चूकना चाहती है. कुछ और भी लोग […]