शराब नीति में भ्रष्टाचार का मामला, 40 ठिकानों पर ED की रेड

जनादेश/नई दिल्ली: दिल्ली के शराब घोटाले के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED)ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। शराब नीति में हुए घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में आज यानी शुक्रवार को ED ने देश के 6 राज्यों में एक साथ छापेमारी की है। जानकारी के अनुसार जांच एजेंसी ने चेन्नई, नेल्लोर, बैंगलोर और मुंबई समेत कुल 40 जगह पर इस मामले को लेकर छापेमारी की है। दिल्ली-NCR, पंजाब, हरियाणा और यूपी में भी तलाशी चल रही है। अकेले हैदराबाद में ही 25 जगहों पर रेड डाली गई है।

दिल्ली में इसी साल एक्साइज घोटाला सामने आया था, जिसकी जांच अब CBI कर रही है। इस मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पहले ही छापेमारी हो चुकी है। साथ ही उनसे CBI ने पूछताछ भी की है। वहीं, आज इस मामले में ED दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से भी पूछताछ करने वाली है। गुरुवार को ही CBI की स्पेशल जज गीतांजलि गोयल ने सत्येंद्र जैन से पूछताछ की इजाजत दी थी। कोर्ट के आदेशों के अनुसार सत्येंद्र जैन से तिहाड़ जेल में ही पूछताछ की जाएगी, जहां वह बंद हैं।

बता दें, इससे पहले 6 सितंबर को भी ED ने देशभर में कई जगहों पर छापेमारी की थी। उस वक्त दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, लखनऊ और गुरुग्राम समेत 30 जगहों पर ईडी छापा मारने पहुंची। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार पर इस नई शराब नीति को लेकर सवाल उठाते हुए घोटाले का आरोप लगाया है। BJP ने आरोप लगाया है कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने शराब माफिया के करोड़ों रुपये माफ कर उन्हें राहत दी है। केजरीवाल सरकार की इस नई नीति से राजस्व का घाटा हुआ है।

इस मामले को लेकर आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच बीते कई दिनों से टकराव तेज है। दोनों पार्टियों की तरफ से एक दूसरे पर बड़े हमले किए जा रहे हैं। BJP इस मुद्दे को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही है। BJP का कहना है कि एक्साइज पॉलिसी में कारोबारियों को कमीशन देने का घोटाला किया गया है और साथ ही लाइसेंस धारकों को उनकी इच्छा के अनुसार एक्सटेंशन दिया गया था। आबकारी नियमों का उल्लंघन कर शराब नीति के नियम बनाए गए। तो दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी इस मामले को गलत बताते हुए भाजपा पर जबरदस्ती घेरने का आरोप लगा रही है।