उत्तराखंड और गोवा में बीजेपी बना सकती है सरकार

जनादेश/नई दिल्ली:  उत्तराखंड और गोवा में लगभग 3 महीनों से सियासी हलचल मची हुई थी। विपक्ष में बैठी कांग्रेस को लग रहा था कि साल 2022 में गोवा और उत्तराखंड नें पार्टी जीत हालिस करके सत्ता का स्वाद चख सकती हैं। वहीं भाजपा अपनी सत्ता को बनाये रखने के लिए मैदान में उतरी। गाोवा में कांग्रेस बीजेपी को टक्कर देने के लिए आम आदमी पार्टी ने भी चुनाव लड़ने का फैसला किया था। मतगणना का दिन गरीब आ गया और सभी पार्टियों के नेताओं की किस्समत का फैसला किया जाने लगा। ईवीएम का पिटारा खुला तो शुरूआती रुझान में उत्तराखंड-यूपी- मणिपुर और गोवा में भाजपा की सरकार बनती दिखायी दे रही हैं। फिलहाल पंजाब को छोड़कर चार राज्यों में बीजेपी को बढ़त मिली है। शुरूआती रूझानों में उत्तराखंड के सीएम अपने निर्वाचन क्षेत्र से पुष्कर सिंह धामी पीछे चल रहे हैं। वहीं गोवा की सांकेलिम सीट से बीजेपी के सीएम उम्मीदवार प्रमोद सावंत 400 वोटों से पीछे, कांग्रेस यहां आगे चल रही है।

इसके अलावा उत्तराखंड के कांग्रेस दिग्गज नेता हरीश रावत भी अपनी सीट से पीछे चल रहे हैं।मणिपुर विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रमुख उम्मीदवार नोंगथोम्बम बीरेन सिंह गे चल रहे। मणिपुर के वर्तमान मुख्यमंत्री नोंगथोम्बम बीरेन सिंह, हिंगांग विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार हैं। मणिपुर में 60 सीटों में से 24 पर बीजेपी आगे चल रही हैं। 11 सीटो पर कांग्रेस ने बढ़त बनायी हुई है। उन्होंने एक फुटबॉलर के रूप में शुरुआत की, फिर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में भर्ती हुए, बाद में पत्रकारिता की ओर रुख किया और अंत में राजनीति में शामिल हो गए। 2002 में, वह हिंगांग से डेमोक्रेटिक रिवोल्यूशनरी पीपल्स पार्टी (DRPP) के टिकट पर विधानसभा के लिए चुने गए। वह कुछ समय के लिए कांग्रेस में शामिल हुए और राज्य मंत्रिमंडल में मंत्री बने। उन्होंने 2016 में भाजपा का दामन थाम लिया और अगले साल मुख्यमंत्री बने। वह 2002 से हिंगांग सीट पर हैं।