दिल्ली क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्रवाई- तीन तस्करों को किया गिरफ्तार

जनादेश/डेस्क: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। क्राइम ब्रांच ने हथियारों की तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए तीन तस्करों और एक हथियार बनाने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक इनके पास से 7 पिस्टल और 27 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं और इसके साथ ही हथियार बनाने का सामान भी बरामद किया गया है।

दरअसल दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच लगातार अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले गिरोह पर लगाम लगाने में लगी हुई है। और इसी कड़ी में एक गुप्त सूचना के आधार पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच में दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में जाल बिछाया और यूपी के इटावा निवासी 32 वर्षीय जनक सिंह को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से 4 सेमी-ऑटोमैटिक पिस्तौल और 16 जिंदा कारतूस बरामद किए गए। जनक पेशे से एक ट्रक ड्राइवर है और साल 2019 में उसने मध्य प्रदेश से दिल्ली और हल्द्वानी, उत्तराखंड में अवैध हथियारों की तस्करी शुरू की।

उन्हें इससे पहले साल 2021 में हल्द्वानी, उत्तराखंड में हथियारों की अवैध तस्करी के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था, जिस पर मुकदमा चल रहा है। आरोपी ने दिल्ली एनसीआर में हथियारों की तस्करी का अपना नेटवर्क विकसित किया। उसने खुलासा किया कि वो पिछले 3 सालों में दिल्ली एनसीआर में 60-70 से अधिक अवैध पिस्टल ला चुका है ।

इस मामले में लगातार जनक से दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की जिसमें उसने बताया कि वो इन हथियारों को एक लक्ष्मी नारायण कल्लू बाबा निवासी भिंड, मध्य प्रदेश से लेता था, जो उसे अपने मित्र मनीष के रिश्तेदार के रूप में जाना जाता है। टीम ने लक्ष्मी नारायण उर्फ ​​कल्लू बाबा को गिरफ्तार किया उसके पास से 2 ओर अर्ध-स्वचालित पिस्तौलें बरामद की गईं।