इंसानियत शर्मसार,बिहार में तीन महिलाओं को डायन बताकर पीटा, अर्धनग्न करके कराई परेड

शिकायत करने पर जान से मारने की दी धमकी, दस दिन में ये चौथी घटना, दहशत में परिवार का गांव से पलायन

पटनाः बिहार में लॉकडाउन के बावजूद अपराधिक घटनाएं थम नहीं रही है।इंसानियत को शर्मसार करता मामला मुजफ्फरपुर से सामने आया है। यहां हथौड़ी थाना क्षेत्र के डकरामा में एक ही परिवार की तीन महिलाओं के साथ डायन का आरोप लगाकर सोमवार को अमानवीय व्यवहार किया गया। तीनों महिलाओं के बाल काटे गए। उन्हें मैला पिलाया गया। महिलाओं की बुरी तरह पिटाई और अर्धनग्न करके परेड कराई गई। इतना ही नहीं लोग इसका विरोध करने के बदले वीडियो बनाते रहे। घटनाक्रम का वीडियो बना कर इसे वायरल कर दिया।

बताया जा रहा है कि मुजफ्फरपुर के डकरामा गांव के लोगों ने महिलाओं को इसलिए पीटा क्योंकि उन्हें उनके चुड़ैल होने का अंधविश्वास था। जिसके कारण उन्हें पीटा गया और अर्धनग्न करके परेड कराई गई। घटना के बाद गांव छोड़ कर जा चुकीं महिलाएं इतनी डरी हैं कि अपने ऊपर हुए इस अत्याचार की शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही हैं।घटना के बाद खौफ में तीनों महिलाओं ने परिजनों के साथ गांव छोड़ दिया। बताया गया है कि इन महिलाओं के परिवार में ही एक व्यक्ति झाड़-फूंक करता है।

गांव में कुछ दिन पहले एक-दो नवजात की मौत के बाद उसके घर की महिलाओं को लेकर अफवाह फैली। इन्हें नवजातों की मौत का जिम्मेदार मान लिया गया। इसके बाद महिलाओं को सबक सिखाने की साजिश हुई। उसके यहां झाड़-फूंक के बहाने अचानक काफी संख्या में ग्रामीण जुट गए और तीनों महिलाओं को पकड़ लिया। बारी-बारी से तीनों के बाल काट दिए और मैला पिलाया। पुलिस से शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी।

हथौड़ी थाना अध्यक्ष जितेन्द्र देव दीपक ने बताया कि घटना की जानकारी होने पर थाने से जमादार को गांव में भेजा गया था, लेकिन पीड़ित पक्ष के गांव में नहीं होने के कारण उनका बयान दर्ज नहीं हो सका। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।