हरिद्वार जहरीली शराब कांड  में एक और ग्रामीण ने तोड़ा दम

जनादेश/डेस्क: हरिद्वार पथरी की जहरीली शराब कांड में अस्पताल में भर्ती सूखा सिंह की आज सोमवार सुबह मौत हो गई। दरअसल सूखा सिंह को रविवार को भर्ती कराया गया था। जानकारी के अनुसार, शराब पीने से अब तक 11 ग्रामीणों की मौत हो चुकी है। और सूखा सिंह शराब पीने से मरने वाले इश्मपाल का ही भाई था। इश्मपाल की शुक्रवार को शराब पीने से मौत हो गई थी। देखा जाए तो एक ही परिवार में जहरीली शराब से दो लोगों की मौत हो गई हैं।

बता दें कि पथरी थाना क्षेत्र की शिवगढ़ ग्राम पंचायत में जहरीली शराब पीने से रविवार को तीन और ग्रामीण की मौत हो गई। शराब पीने से बीमार हुए दो ग्रामीणों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से एक सूखा सिंह की हालत नाजुक थी, जिसकी सोमवार को मौत हो गई। हालांकि अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

पुलिस प्रशासन ने मामले पर कहा कुछ ऐसा

वहीं मामले पर पुलिस प्रशासन का कहना है कि रविवार को दो लोगों की मौत ही शराब पीने से हुई है। दरअसल पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों की ओर से कच्ची शराब बांटी जा रही है। और ऐथेनॉल की अत्यधिक मात्रा होने से शराब जहरीली है। जिसके तहत फूलगढ़ और शिवगढ़ गांव में शुक्रवार को दो व शनिवार को पांच लोगों की मौत हो गई थी। चार ग्रामीणों को खून की उल्टियां होने से शनिवार रात और रविवार सुबह अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया। तो वहीं रविवार सुबह तीन बजे रूप सिंह (35) पुत्र सोम सिंह निवासी शिवगढ़ को खून की उल्टी हुई और उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सुबह दस बजे रूप सिंह की मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक, सूखा सिंह को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। सूखा सिंह जहरीली शराब पीने से जान गंवा चुके इश्मपाल सिंह का भाई है। वहीं देर रात को सिडकुल के निजी अस्पताल में भर्ती अजय (40) पुत्र जोगेंद्र ने भी दम तोड़ दिया। फूलगढ़ निवासी 65 वर्षीय आशाराम की भी घर में मौत हो गई। लोगो नें बताया कि आशाराम ने भी शराब पी थी। लेकिन प्रशासन का कहना है कि आशाराम शुगर का मरीज था और शुगर के चलते ही उसकी मौत हुई थी।