आफताब का हुआ पॉलीग्राफ टेस्ट, 24 घंटे में होगी नार्को जांच

जनादेश/नई दिल्ली: श्रद्धा वालकर हत्याकांड के आरोपित आफताब अमीन पूनावाला का मंगलवार की देर रात को पालीग्राफ टेस्ट किया गया। इससे पहले लंबा ट्रायल किया गया ताकि टेस्ट के दौरान कोई गड़बड़ी न हो। फोरेंसिक लैब के अधिकारियों के अनुसार ट्रायल के क्रम में टेस्ट में अपनाई जाने वाली सभी प्रक्रियाओं को अपनाया गया है और यह लगभग सफल रहा।

इसके बाद मंगलवार रात में उसका पालीग्राफ टेस्ट शुरू किया गया। टेस्ट की शुरुआत उससे संबंधित सामान्य प्रश्नों को पूछने के साथ हुई। रात करीब 11 बजे पुलिस आफताब को लैब से लेकर चली गई। लैब के एक अधिकारी ने बताया कि अभी कुछ और सवाल आरोपित से पूछे जाने बाकी हैं।

इसके लिए बुधवार को फिर से टेस्ट किया जाएगा। इसके बाद उसका बुधवार को ही रोहिणी के बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल में नार्को टेस्ट भी किया जा सकता है। अधिकारियों के अनुसार नार्को टेस्ट के दौरान उससे पचास से अधिक प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसकी प्रश्नावाली फोरेंसिक लैब के पांच मनोविज्ञानियों की टीम तैयार कर रही है। हालांकि कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न पालीग्राफ टेस्ट के परिणाम के आधार पर भी तैयार किए जाएंगे। इसकी वजह यह है कि परिणाम से उसके सच व झूठ बोलने की सही स्थिति का आकलन होगा।

नार्को टेस्ट के लिए अंबेडकर के डाक्टर नवीन के नेतृत्व में दो लोगों की टीम गठित की गई है। इसमें एक एक एनेस्थीसिया विशेषज्ञ भी शामिल है। इसके पूर्व पुलिस आरोपित आफताब को दोपहर बाद फोरेंसिक लैब लेकर पहुंची। उसके पहुंचने के बाद गहमागहमी का माहौल बना रहा। मौके पर सुरक्षा की दृष्टि से स्थानीय पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया गया।

साकेत कोर्ट ने मंगलवार को पुलिस की मांग पर आफताब का रिमांड चार दिन और बढ़ा दिया था। इसके बाद देर शाम ही पालीग्राफ टेस्ट के लिए ट्रायल शुरू कर दिया गया। ट्रायल सफल रहने पर देर रात पालीग्राफ टेस्ट कर लिया गया। सूत्रों के मुताबिक पुलिस बुधवार को ही नार्को टेस्ट भी कर सकती है। अगर किन्हीं कारणों से यह नहीं हो सका तो बृहस्पतिवार को नार्को टेस्ट किया जाएगा। क्योंकि रिमांड के इन चार दिनों में पुलिस को टेस्ट के साथ श्रद्धा के शरीर के टुकड़ों और हत्या में प्रयुक्त हथियार आिद अहम सुराग जुटाने हैं।