चार धाम यात्रा में हुई 86 यात्रियों की मौत

जनादेश/उत्तराखंड: उत्तराखंड में चार धाम यात्रा शुरू हो गई है। यात्रा शुरू अभी हुए एक महीना भी नहीं बीता है, लेकिन इस यात्रा में शामिल हुए कम से कम 86 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। इनमें से केदारनाथ यात्रा के दौरान 44 लोगों की मौत हुई है, जबकि यमुनोत्री में 25, बद्रीनाथ के आसपास 13 और गंगोत्री में 4 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मौतें बुजुर्ग यात्रियों में दिल के दौरे के कारण हुईं। बताया जाता है कि यह आंकड़ा पिछले सालों के मुकाबले काफी ज्यादा है, जबकि 3 मई को शुरू हुई इस यात्रा को अभी 25 दिन ही हुए हैं।

‘चार धाम यात्रा’ पर और खासकर ‘केदारनाथ यात्रा’ पर, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद पिछले कुछ सालों से बार-बार प्रचारित कर रहे हैं, तीर्थयात्रियों की इस बढ़ती मौत ने कई सवाल खड़े किए हैं। सरकार पर हमला किया गया है और यात्रा के कुप्रबंधन और स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी का आरोप लगाया गया है। उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने अपने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘लापरवाही की भी हद होती है और यह खबर एक राज्य के तौर पर हम सभी को नाराज कर रही है। अगर मौतें इसी तरह जारी रहीं तो सोचना चाहिए था कि क्या संदेश जाएगा हमारे राज्य के बारे में देश।