बिहार में बारिश और आंधी का कहर, आकाशीय बिजली की चपेट में 8 लोगों की मौत

पटनाः बिहार में तेज बारिश और आंधी का कहर एक बार फिर देखने को मिला। मंगलवार को सुबह से ही राज्य में अंधेरा छाया रहा। सड़क पर चलने वाली कार और बाइक सवारों को हेड लाइट ऑन करनी पड़ी। पहले तेज हवा चली। इसके बाद बारिश शुरू हो गई। अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने से 8 लोगों की मौत हो गई। कई लोग घायल हैं।

बता दें कि पटना में अहले सुबह से हुई बारिश के बाद थोड़ी देर तक धूप खिली, उसके बाद अभी आसमान में बादलों का डेरा है। तेज हवा चल रही है। राज्य के जहानाबाद, शेखपुरा, बेगूसराय, नालंदा, सीवान, भोजपुर, छपरा, रोहतास समेत कई अन्य जिलों में हुई। बिजली गिरने से पटना जिले के दुल्हिन बाजार में दो और बाढ़ के सादिकपुर में एक की जान गई। जहानाबाद के घोसी और मखदुमपुर में भी एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई।

शेखपुरा के पुरैना गांव में वज्रपात से महिला की मौत। मृतक महिला बर्फी देवी की उम्र 45 साल बताई गई है। -बाँका जिले के कटोरिया थाना क्षेत्र के पपरेवा गांव में वज्रपात से एक 18 वर्षीय युवक अजय कुमार की मौत हो गई। नालंदा के अस्थावां के रामी बिगहा गांव में एक अधेड़ की मौत हो गई। बांका के कटोरिया के पपरेवा में एक युवक की मौत हो गई। वहीं बेगूसराय के भगवानपुर थाना की जोकिया पंचायत के किशुनदेव महतो के घर पर ठनका गिरने से चार बच्चे घायल हो गए हैं तो वहीं  घर क्षतिग्रस्त हो गया है।

सिवान जिले के पचरुखी के वैशाखी गांव स्थित मंदिर के गुम्बज पर ठनका गिरा, मंदिर का गुम्बज टूट कर नीचे गिरा, कोई हताहत नहीं हुआ है। जहानाबाद तथा अरवल जिले मे भी वज्रपात से दो लोगों  की मौत हो गई । एक ओर जहां अरवल थाना क्षेत्र के खोखरी मे एक व्यक्ति की मौत हो गई वही मखदुमपुर थाना क्षेत्र के नेवारी गांव मे एक किशोर की मौत हो गई । झुलस जाने के कारण एक अन्य किशोर भी जख्मी हो गया। बिहारशरीफ प्रखंड के कादिर बीघा खंधा में मवेशी चराने के दौरान तीन बच्चों पर वज्रपात।तीनो बच्चे झुलसे। सदर अस्पताल में इलाज जारी।

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव की वजह से बारिश हुई।कई झोपड़ियों के छत हवा में उड़ गए हैं तो वहीं आंधी और बारिश से प्रदेश में आम और लीची की फसल को बड़ा नुकसान बताया जा रहा है। इस बेमौसम बारिश से किसान मायूस हैं।