गणेश विसर्जन के दौरान यूपी-हरियाणा में 15 लोगों की मौत, 7 बच्चे भी शामिल

जनादेश/डेस्क: दस दिनों तक चलने वाले गणेश चतुर्थी उत्सव का शुक्रवार को समापन हो गया। कल ही मुर्तियों का विसर्जन भी किया गया। इस दौरान डूबने की कई घटनाएं सामने आई हैं। बता दें कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में शुक्रवार को गणेश विसर्जन के दौरान डूबने से 7 बच्चों समेत कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई। वहीं कई लोगों को रेस्क्यू कर बचा भी लिया गया है जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में चार युवक नहर में डूब गये जबकि दो सोनीपत में यमुना नदी में डूब गये। आपको बता दें कि महेंद्रगढ़ में करीब सात फुट की मूर्ति विसर्जन के लिए ले जा रही टोली जब नहर में पानी की धारा में बह गई तो नौ युवक बह गए। जिला प्रशासन ने एनडीआरएफ की मदद से बचाव अभियान शुरू किया। इस घटना में चार की मौत हो गई, अन्य को बचा लिया गया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ट्वीट कर कहा है कि “महेंद्रगढ़ और सोनीपत जिलों में गणपति विसर्जन के दौरान डूबने से कई लोगों की असमय मौत की खबर दिल दहला देने वाली है। हम सभी इस कठिन समय में मृतकों के परिवारों के साथ खड़े हैं। एनडीआरएफ की टीम ने कई लोगों को डूबने से बचाया है। मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।”

उधर उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों से भी गणेश विसर्जन के दौरान नौ लोगों के मौत की खबर सामने आ रही है। उन्नाव में तीन, संत कबीर नगर में चार, ललितपुर में दो युवकों की मौत हो गई।

उन्नाव की बात करें तो यहां दो बच्चों की डूबने से तुरंत मौत हो गई। तीसरे बच्चे को इलाज के दौरान अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया।  

दूसरी घटना संत कबीरनगर की है। आमी नदी में डूबने से 4 बच्चों की मौत की बात सामने आ रही है। ये बच्चे पूजा सामग्री विर्सजन करने नदी किनारे गए थे। वे सभी अचानक गहरे पानी में चले गए और डूब गए। बाद में गोताखोरों की मदद से चारों बच्चों के शव को बाहर निकाला गया।