उत्तराखंड मुद्दा सम्पादकीय

राजनीति के गिरते स्तर का समाज पर पड़ता प्रभाव…..!

25 12 Views
FB_IMG_1539317565939~2
Ansh
Ansh2
IMG-20200403-WA0004
IMG-20200513-WA0002

जनादेश/ अदिल पाशा/ देहरादूनः आज के समय मे राजनीति का नाम आते है लोगो के मन मे एक अजीब सा प्रश्न उठने लगता है कि राजनीति सिर्फ लोगो को एक दूसरे से लडाने एक मजहब को दूसरे मजहब से लडाने लिए इस्तेमाल किया जाता है।इसलिए आज के समय मे नेताओ से लोगो को अपेक्षा भी कम ही रहती है और उसकी कही ना कही बडी वजह यही है कि ये लोग विकास कार्यो की बात ही नही करते बात करते है तो सिर्फ अपने विकास की और इसके पीछ बडी वजह हमारे समाज की ही है क्योकि नेता भी हमारे बीच से ही आते है।

क्यो आज का समाज जाति और धर्म के नाम पर नेताओ को विधानसभा और लोकसभा भेजता है। एक तरफ तो समाज के लोग अपने बच्चो के भविष्य के लिए अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य का सपना देखते है दूसरी तरफ वोट देते समय जाति और मजहब को आगे लाकर वोट करते है। क्यो आज समाज ने पार्टीयो को हिन्दु मुसलमान सिख इसाई के रूप मे बाट दिया है।कही ना कही राजनीति को इस स्तर पर पहुचाने मे समाज के लोगो ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आज क्यो हम किसी का स्वभाव और शिक्षा को देखकर वोट नही देते है क्यो हम या तो चुनाव निशान देखते है या फिर ये देखते है कि ये आदमी दूसरे मजहब के खिलाफ कितना बोल सकता है।

क्यों हम मस्जिद और मंदिर के नाम पर वोट करते है। चुनाव के समय हम क्यो नही ये मांग करते है कि हमारे क्षेत्र मे अच्छे स्कूल हो अच्छे अस्पताल हो लोगो को अपनी जीविका चलाने के लिए अच्छे रोजगार हो बस हमे तो बने ही नेताओ के झण्डे और डन्डे उठाने कें लिए है। राजनीति को अगर दिल से साफ देखना चाहते हो तो भूल जाओ कौन पार्टी क्या है क्या भाजपा ,कांग्रेस, सपा बसपा ,आप और अन्य पार्टी आप सबको अपने आप से प्रण लेना होगा कि आने वाले किसी भी चुनाव मे अगर देश को आगे बढाना है।

तो किसी शिक्षित और अच्छे इंसान को ही चुनाव जीताकर संसद और विधानसभा मे भेजना है। अब चाहे उसके लिए मोहर किसी भी निशान पर लगानी क्यो ना पडे वोट देते समय इसांन देखे पार्टी नही तभी आप एक अच्छे भविष्य का सपना भी देख सकते है और कल्पना भी कर सकते है बाकि आज की राजनीति को तो आप भलि भांति देख ही रहे है।

Download Janadesh Express E-Paper
IMG-20200519-WA0028
IMG-20190709-WA0001
IMG-20200513-WA0002