अपराध गोपालगंज

गोपलगंज। मठ के पुजारी की निर्मम हत्या,पूरे क्षेत्र में शोक की लहर

134 12 Views
FB_IMG_1539317565939~2
Ansh
Ansh2
IMG-20200403-WA0004
IMG-20200513-WA0002

= महज़ एक पुड़िया गाजा के लिए महंत की हत्या
= तीन लोगो ने मिलकर दिया वारदात को अंजाम

राजीव रंजन तिवारी
गोपालगंज। कटेया थाना क्षेत्र के रसौती गाँव स्थित नाथ सम्प्रदाय के मठ के महन्त की बुधवार देर रात निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। मृत महन्त का नाम वशिष्ठ दास बताया जा रहा है। विदित है कि थाना क्षेत्र के रसौती गाँव में वर्षों प्राचीन नाथ सम्प्रदाय का मठ स्थित है। जिसमें पूजा-पाठ के लिए 2013 में इस मठ पर हुए सहस्त्र चंडी महायज्ञ में ही भोरे थाना के सिसवा गाँव निवासी 65 वर्षीय पुजारी वशिष्ठ उपाध्याय को ग्रामीणों के द्वारा इस मठ का महन्त नियुक्त किया गया था। तब से ही वे इस मठ पर रह कर दैनिक पूजा-अर्चना किया करते थे। पुलिस ने हत्या में कथित रूप से प्रयुक्त बाँस के एक मोटे डंडे को बरामद कर लिया है। जिस पर खून के निशान मिले हैं। स्थानीय प्रशासन ने मृतक के शरीर पर बने घाव के निशानों को देख कर गोली मारे जाने की संभावना से इंकार किया है। हालांकि प्रशासन ने यह भी कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पुख्ता तौर पर यह कहा जा सकता है कि वारदात को किस हथियार की मदद से अंजाम दिया गया है। पुलिस ने जांच के दौरान घटना स्थल से चौबीस हजार रुपये भी बरामद किए। पुलिस ने बताया कि मठ एकांत स्थान पर होने के बाद भी प्रथम दृष्टया यह मामला लूटपाट के इरादे से की गई हत्या का नहीं लग रहा। हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका हैं। पुलिस की जाँच जारी है।पुलिस ने जल्द ही मामले का खुलासा करने का दावा किया है।


मठ के सेवादार ने ग्रामीणों को दी वारदात की सूचना

ग्रामीणों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मठ में साफ-सफाई आदि कार्य करने वाले रसौती के रतन कमकर प्रतिदिन की भांति गुरुवार सुबह जब मठ पहुंचे, तो मठ का दरवाजा चारो ओर से बंद पाया। आवाज देने पर भी जब न तो मठ का दरवाजा खुला और ना ही मठ के अंदर से किसी ने जवाब दिया तो रतन ने मठ के दूसरे दरवाजे से झाँक कर देखा और ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने स्थानीय पुलिस को वारदात की सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर आगे की कार्यवाही शुरू की।

एएसपी के समझाने के बाद ग्रामीण शव के पोस्टमार्टम के लिए हुए राजी

वारदात की सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे कटेया थाने के थानाध्यक्ष सुमन कुमार मिश्र ने घटना स्थल की जाँच की, जिसके बाद पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की कवायद शुरू कर दी। परन्तु ग्रामीणों ने पुलिस के वरीय अधिकारियों को घटनास्थल पर बुलाने की माँग करते हुए हंगामा कर दिया। जिसके बाद मीरगंज इंस्पेक्टर सतीश कुमार हिमांशु के साथ हथुआ एएसपी अशोक चौधरी घटना स्थल पर पहुंचे।उनके काफी समझाने पर ग्रामीण शव को अन्त्य परीक्षण के लिए भेजने को राजी हुए।

खोजी कुत्ते की निशानदेही पर चार लोग हिरासत में

आक्रोशित ग्रामीणों की माँग पर वारदात की जाँच के लिए छपरा से डॉग एस्कॉर्ट्स की टीम को बुलाया गया। स्थानीय प्रशासन के बुलावे पर दोपहर एक बजे घटना स्थल पर पहुंची डॉग एस्कॉर्ट्स की टीम ने खोजी कुत्ते की मदद से वारदात से संबंधित साक्ष्यों को इकट्ठा किया और जाँच को आगे बढ़ाया। टीम की जाँच के दौरान खोजी कुत्ते की निशानदेही पर पुलिस ने चार संदिग्धों को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के लिए थाने ले गई।

परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल

घटना की सूचना पर मठ पहुँचे परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। अपने ससुराल में रह रही मृतक की बेटी प्रिया अपने पिता के शव को देख बार-बार अचेत हो रही थी। वहीं मृतक की भाभी फूलकुमारी देवी का भी रो-रो कर बुरा हाल था।

देर शाम महन्त को दी गई समाधि

पोस्टमार्टम से मृतक का शव आने के बाद रसौती मठ परिसर में देर शाम को समाधि दी गई। समाधि के दौरान सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई थी। जेसीबी से गड्ढे की खुदाई कर पूरे आध्यात्मिक विधि और तौर तरीके से वैदिक मंत्रों के साथ शव को उसमे बने कमरें में बैठाकर नमक के साथ बन्द कर दिया गया। ततपश्चात वहाँ उपस्थित लोगों ने मिट्टी डालकर उसे भरा। पुलिस ने हत्या में कथित रूप से प्रयुक्त बाँस के एक मोटे डंडे को बरामद कर लिया है। जिस पर खून के निशान मिले हैं। स्थानीय प्रशासन ने मृतक के शरीर पर बने घाव के निशानों को देख कर गोली मारे जाने की संभावना से इंकार किया है। हालांकि प्रशासन ने यह भी कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पुख्ता तौर पर यह कहा जा सकता है कि वारदात को किस हथियार की मदद से अंजाम दिया गया है। खबर लिखे जाने तक पुलिस घटनास्थल की जाँच कर रही थी।पुलिस ने घटना स्थल से चौबीस हजार रुपये भी बरामद किए थे। पुलिस ने बताया कि मठ एकांत स्थान पर होने के बाद भी प्रथम दृष्टया यह मामला लूटपाट के इरादे से की गई हत्या का नहीं लग रहा। हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका था।पुलिस की जाँच जारी है। पुलिस ने जल्द ही मामले का खुलासा करने का दावा किया है।

IMG-20200519-WA0028
IMG-20190709-WA0001
IMG-20200513-WA0002