देश ब्रेकिंग न्यूज़ मुद्दा राज्य शिक्षा हरियाणा होम

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने दो लाख छात्रों के रोल नंबर रोके, ये है पूरा मामला

54 12 Views
FB_IMG_1539317565939~2
Ansh
Ansh2
IMG-20200403-WA0004
IMG-20200513-WA0002

हरियाणा में स्कूल शिक्षा बोर्ड ने लगभग 830 निजी स्कूलों के दो लाख विद्यार्थियों के रोल नंबर रोक दिया है। जिससे छात्र  व उनके परिजन परेशान हो गए है। मामला तूल पकड़ता जा रहा है। स्कूल शिक्षा बोर्ड ने इन विद्यार्थियों के रोल नंबर रोकने की वजह बता दी है। बोर्ड ने कहा कि रोल नम्बर  इसलिए रोके गए हैं, चूंकि इनके स्कूलों के शिक्षकों ने बीते वर्ष बोर्ड परीक्षाओं में अपनी ड्यूटी नहीं दी थी।

बता दें कि बोर्ड ने परीक्षा में ड्यूटी न देने वाले स्कूलों पर पांच-पांच हजार रुपये जुर्माना लगाया था। फेडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन ने दबाव बनाया तो चेयरमैन ने जुर्माना न लेने का आश्वासन दिया था, लेकिन 2019-20 की बोर्ड परीक्षा से ठीक पहले पांच-पांच हजार रुपये जुर्माने पत्र निजी स्कूलों की ईमेल पर भेज दिए। जिसका स्कूलों ने विरोध किया। कुल 901 स्कूलों को पांच-पांच हजार रुपये जमा कराने के निर्देश दिए थे। जिसमें से लगभग 71 स्कूलों ने राशि जमा करा दी है, जबकि बाकि जुर्माना न देने पर अड़ गए हैं।

इस कारण बोर्ड ने विद्यार्थियों के रोल नंबर रोके हैं। जिनके रोल नंबर रुके हैं, उनमें से अनेक विद्यार्थी दसवीं और बारहवीं के प्रैक्टिकल देने से भी वंचित रह गए हैं। फेडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन एवं निसा इससे खफा हैं। बोर्ड के इस कदम से छात्रों का भविष्य अधर में आ गया।  स्कूल और शिक्षकों की गलती का खामियाजा छात्रों को भुगतना पड़ रहा है।

अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा ने पत्रकारों से बाचतीत में कहा कि अगर बोर्ड ने जल्दी रोल नंबर जारी नहीं किए तो पहली मार्च को हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। इसी दिन विद्यार्थियों को साथ लेकर शिक्षा बोर्ड भिवानी का घेराव किया जाएगा। एक साल बाद डयूटी न देने वाले शिक्षकों की सजा विद्यार्थियों को देना गलत है।

 

 

Download Janadesh Express E-Paper
IMG-20200519-WA0028
IMG-20190709-WA0001
IMG-20200513-WA0002