ब्रेकिंग न्यूज़

गोपालगंज। पूर्व मुखिया को गिरफ्तार करने गई पुलिस पर जानलेवा हमला एक गृह रक्षक घायल

223 12 Views
FB_IMG_1539317565939~2
Ansh
Ansh2
IMG-20200403-WA0004
IMG-20200513-WA0002

तीन नामजद के अलावे आधा दर्जन अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज
✍आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही लगातार छापेमारी

गोपालगंज:- फुलवरिया थाने के सहायक श्रीपुर ओपी क्षेत्र के चौबे परसा गांव में आरोपी पूर्व मुखिया एवं उसके भाई को गिरफ्तार करने गई पुलिस पर इट पथर से जानलेवा हमला कर दिया गया. उक्त हमले में एक गृहरक्षक शैलेंद्र कुमार गंभीर उसे घायल हो गया. घायल गृह रक्षक सलेंद्र कुमार को पुलिस कर्मियों ने आनन फानन में इलाज हेतु स्थानीय मरछिया देवी रेफरल अस्पताल फुलवरिया लाया गया जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के पश्चात छोड़ दिया. पुलिस पर हुए जानलेवा हमला को लेकर सहायक अवर निरीक्षक विजेंद्र कुमार ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराया है दर्ज प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि सहायक अवर निरीक्षक पंकज कुमार वह आधा दर्जन गृहरक्षकों के साथ जिला अधीक्षक महोदय के आदेशानुसार चलाए जा रहे समकालीन अभियान के तहत गश्त में निकले थे. उधर रात्रि 2:00 बजे क्षेत्र के चौबे परसा गांव पूर्व में हुए मारपीट के आरोपी वह गणेश डूमर पंचायत के पूर्व मुखिया अशोक सिंह के दरवाजे पर गिरफ्तारी के लिए पहुंचे एवं दरवाजा को खत खत आने पर नहीं खोला गया जिसके बाद स्थानीय चौकीदार वह गृहरक्षकों के द्वारा दरवाजा खोलने के लिए आवाज दिया गया जिस पर घर के अंदर से पूर्व मुखिया अशोक सिंह की पत्नी वह आरोपी अमोद सिंह की पत्नी ने जवाब दिया कि घर पर कोई नहीं है उसके बावजूद भी पुलिस ने दरवाजा खोलकर जांच के लिए कहा तो नहीं खोला गया जिसके बाद पुलिस ने इसकी जानकारी वरीय पदाधिकारी को दिया गया इसके अलावे पंचायत के मुखिया दिलीप बैठा वह पूर्व सरपंच शंभू पांडे को उक्त स्थल पर बुलाया गया. कुछ देर बाद आरोपी अमोद सिंह छत पर दिखाई पड़ा और उनके द्वारा घर के महिलाओं के ओर इशारा दिया गया उक्त इशारे पर पूर्व मुखिया की पत्नी आरोपी आमोद सिंह की पत्नी वह वशिष्ठ सिंह की पत्नी के अलावे तीन लड़कियां पत्थर से जानलेवा हमला कर दिया. जिसमें गृह रक्षक सलेंद्र कुमार गंभीर उसे घायल हो गए ट पत्थर से जानलेवा हमले के पश्चात फुलवरिया थाने के सहायक अवर निरीक्षक मंसूर आलम सशस्त्र बल के जवानों के साथ उक्त घटना स्थल पर पहुंचे. जहां 9:00 बजे तक आरोपी पूर्व मुखिया की गिरफ्तारी के लिए वहां रोका गया उसके बावजूद भी दरवाजा नहीं खोला गया इतना ही नहीं पूर्व मुखिया की पत्नी के अलावे घर के अन्य महिलाओं के द्वारा धमकी लब्जों में कहा गया कि हमारी पहुंच उपर तक है हम कुछ भी करा सकते हैं. साथ ही प्राथमिकी में यह भी आरोप लगाया गया है कि पुलिस कार्य में बाधा डालना तथा पुलिस टीम पर जानलेवा हमला धमकी देना कानूनन अपराध है जिसको लेकर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है जिसमें पूर्व मुखिया अशोक सिंह उनका भाई अमित सिंह वशिष्ट सिंह तथा इन तीनों आरोपियों के पत्नियां के अलावे तीन लड़कियों को नामजद किया गया है पुलिस गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है इस संदर्भ में श्रीपुर ओपी अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी सिद्धि सलाखों के अंदर होंगे

Download Janadesh Express E-Paper
IMG-20200519-WA0028
IMG-20190709-WA0001
IMG-20200513-WA0002