Breaking News

गोपालगंज।। रात के अंधेरे में अपनी माशूका से मिलने पहुंचे थे दारोगा, लोगों ने बंधक बना जमकर पीटा

27 00 Views

गोपालगंज:- जिले के थावे थाने के आशिक दारोगा को तीन घन्टे तक बंधक बनाया गया थावे प्रखंड के वृंदाबन पंचायत के वृंदाबन मौजे गांव में शुक्रवार की देर साम को उग्र ग्रामीणों ने थावे थाना के एएसआई को बनाया बंधक। कई घण्टो बंद रखा कैमरे में।बताया जाता हैं, की थावे थाने के एएसआई निशिकांत उपाध्याय ने वृंदाबन मौजे गांव निवासी प्रहलाद महतो की बीस वर्षीय पुत्री नीलम कुमारी को अपने बाइक पर बैठाकर उसके घर शुक्रवार को देर शाम6,45 में छोड़ने गए।जहां उग्र ग्रामीणों ने उनको देखते ही उनकी बाइक की चाबी, और मोबाइल छीन लिया।तथा बाइक को क्षतिग्रस्त करते हुए।दारोगा को जमकर धुनाई की।उसके बाद एक कैमरे में बंद कर दिया।

बंद करने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद की जमकर नारेबाजी की।ग्रामीण का आरोप था, की पिछले छह माह से इनके द्वारा कपड़ा, समान एवम पैसे दिए जाते थे।तथा इसके दरवाजे पर दजनों बार आए हैं।जबकि घर के मालिक प्रहलाद महतो ने बताया कि यह दारोगा जी हमारे दरवाजे पर पहले बार ही आए हैं।इसके पहले कभी नहीं आए थे। ग्रामीणों ने अपने सरपंच टिंकू तिवारी को घटना की सूचना दी।जिससे पर  सरपंच सूचना मिलने के बाद घटना स्थल पर पहुंचकर।एसपी मनोज कुमार तिवारी को फोन पर इसकी जानकारी दी।जानकरी मिलते ही।एसपी ने हथुआ अनुमंडल के इस्पेक्टर सतीश कुमार, उच्चका गांव थानाध्यक्ष किरण शकर ,व थावे थानाध्यक्ष विशाल आनंद, मंगल कुमार ,आसुतोष कुमार सहित काफी संख्या में जवांनो के साथ घटना स्थल पहुंचे।

जहां उग्र ग्रामीणों की नारेबाजी की समान करना पड़ा।वही सूचना मिलने पर पूर्व मुखीया देवेन्द्र कुमार सिंह पहुंचकर सरपंच के साथ उग्र ग्रामीणों को काफी समझाया।उसके बाद ग्रामीण शांत हुए।पुलिस प्रशासन व पूर्व मुखिया, सरपंच के काफी मशक्कत के बाद लगभग तीन घन्टे बंधक बना गए।दारोगा को मुक्क्त कराया गया।वही दारोगा ने बताया कि एक केस में सरपंच द्वारा पैरबी की गई थी।जिसको नही माने।उसी बात को लेकर हमको वृंदाबन में घेरकर मेरे बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिया गया।तथा हमको बंधक बनाया गया।