जरा हटके

जब समाज के बिद्धिजीवी हो गए मौन तो अस्मिता खोते तालाबों को बचाने का युवाओं ने उठाया बीड़ा

153 00 Views

रंजीत भोजपुरिया, छपरा।

जनादेश/छपरा नगर। सारण जिले के प्राचीनतम सरोवर शाह बनवारीलाल तालाब जिसका गंदगी के कारण उसकी अस्मिता खतरे में देख युवाओं की बढ़ी चिंता। तलाब की गंदगी को साफ करने के लिए और जल संरक्षण के प्रति अच्छी सोच रखने वाले विजय राज की युवा क्रांति रोटी बैंक टीम करीब 20 से 25 लोगों के साथ तालाब की साफ सफाई करने पहुंची, तालाब की सफाई के लिए 3 घंटे श्रम दान भी किया,तलाब में गन्दगी को देख युवाओं का हौसला भी पस्त पड़ने लगा, फिर भी वे श्रमदान से पीछे नहीं हटे और डटे रहे। बदतर गंदगी व जहरीले अपशिष्ट से फैलती बदबू से मरती मछलियों व तलाब को को गन्दगी से निजात दिलाने के लिए दर्जनों युवा क्रांति के साथी खुद तालाब की सफाई में जुट गए,और सप्ताह में दो नामचिन्ह तलाब और सार्वजनिक जगह को समय निकालकर सभी युवा क्रांति रोटी बैंक के साथी सफाई करने के लिए संकल्पित हुए। पहले दिन युवाओं ने मिलकर 3 घंटे तक सफाई करते हुए तालाब के पानी में उगे घास व उसमे फेंके गए कुड़े कचरे एवं मूर्तियों के अवशेषों को बाहर निकाला।

जनादेश अख़बार का अपने हॉकर से मांग करे !

प्राप्त जानकारी के अनुसार तालाब सफाई करने वालों युवाओं में छात्र नेता अर्जुन सिंह, अप्पु सिंह, प्रशांत सिंह, अनुज कुमार (बजरंगी) , मनीष कुमार मनी, विवेक सिंह, दीपक पटेल, मुन्ना, संदीप, रोहन कुमार और युवा क्रान्ति रोटी बैंक के दर्जनों सदस्यों ने स्वछता में भागदारी दी।